Ransomware Kya hai - रैनसमवेयर क्या है.

इतिहास का सबसे बड़ा  " Ransomware Attack दुनिया भर में तबाही मचा रखा है. कई लोगों की जिंदगी पर प्रभाव और लाखो कंप्यूटर डाटा बंद " यानि Lock है. और लोग अपनी डाटा को एक्सेस नहीं कर पा रहे है. 150 देश को " Ransomware Attack हो चूका है.इससे पहले हम जननेगे Malware क्या है.



Malware Kya hai -मालवेयर क्या है.
Malware  को  संक्षिप्त रूप में malicious कहते है, जी हाँ malicious शब्द का मतलब है,बुरा चाहने वाला 

मालवेयर एक प्रकार का सॉफ्टवेयर प्रोग्राम है,जो आपके कंप्यूटर के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। इस सॉफ्टवेयर को हैकर्स कंप्यूटर से पर्सनल डाटा चोरी करने के लिए डिजाइन करते हैं.मालवेयर आपकी निजी फाइलों तक पहुंचकर उन्हें दूसरी किसी डिवाइस में ट्रांसफर कर सकता है।इसके जरिए हैकर्स आपकी सूचनाएं, फोटो, वीडियो, बैंक या अकाउंट से जुड़ी जानकारी चुरा सकते हैं.



Malware Se Kaise Bache - मालवेयर से बचने का तरीका क्या है 

गानें या पिक्चर आदि की डाउनलोडिंग केवल विश्वसनीय वेबसाइट से ही करें।हो सकता है इसके लिए आपको कुछ पैसे देने पड़े लेकिन यह आपके सिस्टम के लिए अच्छा रहेगा.यदि आपके सिस्टम में एंटी मालवेयर या एंटी वायरस नहीं है तो इसे तुरंत इंस्टॉल कराएं।अपने सिस्टम के एंटी वायरस को समय-समय पर अपडेट करते रहें। इससे यह भी पता चलता रहेगा कि एंटी वायरस ठीक काम कर रहा है या नहीं.

अपने महत्वपूर्ण डाटा को पासवर्ड से सुरक्षित रखें, ताकि इसे चुराना या हैक करना आसान न हो। जो पासवर्ड आपने सेट किया है, उसमें अंक और अक्षर दोनों का इस्तेमाल किया जाना चाहिए।
अपने पीसी में फायरवॉल इंस्टॉल करें। फायरवॉल कंप्यूटर और इंटरनेट के बीच सुरक्षा दीवार की तरह काम करता है। इसे हमेशा ऑन रखें।


Computer Virus Kya hai - कंप्यूटर वायरस क्या है.
VIRUS के फुल फॉर्म इस प्रकार है - Vital Information Resources Under Seize

कंप्यूटर अथवा किसी भी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स के लिए यह Virus बेहद ही खतरनाक है. कुछ computer viruses का नाम इसप्रकार है. 
  • WORMS
  • TROJAN HORSES
  • RANSOMEWARE
  • SPYWARE
  • ADWARE
  • SCAREWARE

WORMS 
हम आपको बता दे की WORMS VIRUS बहुत ही खतरनाक है, ये वायरस एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर तक पहुंच जाता है. अब ये आप कहेंगे वो भला कैसे

WORMS का मतलब है, कीड़ा तो आपको पता होगा की कीड़ा बहुत जल्दी बढ़ जाते है.तो WORMS VIRUS भी काम करता है.

WORMS VIRUS कम्प्यूटर में जाकर मल्टीप्ल वायरस बन जाते है. जैसे की एक फोल्डर से अनेक फोल्डर बन जाते है.

TROJAN HORSES
ये वायरस आपको ज़्यदातर इंटरनेट पे मौजूद होते है जैसे की आप अपने कंप्यूटर से सम्बंधित सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर रहे है,इनस्टॉल करने के बाद आपका  कंप्यूटर काम करना बंद होजाएंगा।

SPYWARE 
SPYWARE के नाम से पता चल गया होगा. दरअसल SPYWARE VIRUS को जासूसी करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.जैसे की आप अपने कम्प्यूटर में बैंक खाता ,या कुछ भी कर रहे है. SPY करेगा मतलब आपके पासवर्ड पर्सनल डाटा जानकारी कर लेगा.

ADWARE
ADWARE दरअसल आप कोई भी websites को सर्च करते है, उस websites पर ऐड आनेवाला आप अगर गलती से क्लिक कर देते है, इससे भी आपके कम्प्युटर में वायरस आ सकती है.

SCAREWARE
मान लीजिये किसी websites पे जाते है, तो अचानक आपके browser पे पॉपअप आना शुरू हो जाते है.कुछ देर बाद आपको ये जानकारी देगा आप सॉफ्टवेयर इन्सटॉल कर लीजिये आपके कम्प्यूटर के फायेदमंद है, तो ऐसे में आपके कम्प्यूटर सलोव हो जाता है और आपका पर्सनल डाटा डिलीट भी सकती है.


ये एक ऐसा प्रोग्राम होता है, जो खुद बा खुद आपके कंप्यूटर पे अपने आप को संयोजित (Combined) करता है, एक कम्प्यूटर वायरस(Computer Virus) एक कंप्यूटर प्रोग्राम (कंप्यूटर प्रोग्राम) है जो अपनी अनुलिपि (Duplication) कर सकता है और उपयोगकर्ता (User) की अनुमति के बिना एक कंप्यूटर को संक्रमित(Infected) कर सकता है और उपयोगकर्ता को इसका पता भी नहीं चलता है.


कंप्यूटर में वायरस फैलने के कई कारण हो सकते हैं. संक्रमित फ्लापी डिस्क , संक्रमित सीडी या संक्रमित पेन ड्राइव आदि वायरस फ़ैलाने में सहायक हैं। ई-मेल , गेम , इंटरनेट फाइलों द्वारा भी वायरस कंप्यूटर में फ़ैल सकता है। वायरस को पहचानना बहुत मुश्किल नहीं है। वायरस इन्फेक्शन के गंभीर रूप लेने से पहले कम्प्यूटर में उनके संकेत दिखाई देते हैं.तो चलिए जानते है "Ransomware Kya hai

Ransomware Kya hai - रैनसमवेयर क्या है.

आपको जानकर हैरानी होगी की Ransom का मतलब- फिरौती होती है, जी हाँ 

जैसे की आपने काफी सिनेमा देखा होगा,गुंडे लोग करोड़ पैसा का मांग करते है, तो वही संकल्पना है.

May 12th 2017 को Internet के इतिहास में सबसे बड़ा Ransomware cyber attack दुनिया में देखा गया था.
WannaCry ने Windows OS की एक vulnerability(दोष) का भरपूर फ़ायदा उठाया. जिसकी मदद से इसने बहुत से computers को अपने चपेट में कर लिया. कुछ ही घंटो में इसने लगभग लाखो Machines को infect कर चूका था.

यदि Ransomware आपके  computer system में लोड हो जाये तो कुछ ही seconds में ये सारी files और documents को encrypt या लॉक कर देगा।यहाँ तक की आप  अपना documents या कुछ जरूरी चीज़ तक नहीं खोल सकते.

वैसे देखा जाये तो कम लोग अपना data backup कर के रखते हैं. और यदि ये Ransomware लोड हो जाये तब सारी Documents और Data हमारे Control से चली जाएगी. जिससे हमे बहुत ही नुकशान झेलना पडता है.

इसके बाद Ransomware Attack होने के बाद फिरौती मांगे गए जो इस तरह है, $300 $600 अगर दिन तक आप फिरौती नहीं देते तो फिरौती दुनगुना हो जायेगा। और ये पेमेंट होगी वो सिर्फ Bitcoins से होगी.बड़े बड़े company जैसे British NSH , International shipper FedEx. इससे प्रभावित थे.


इसके अलावा इंडिया  Andhra Pradesh के पुलिस स्टेशन में सारे कम्प्यूटर के डाटा लॉक हो चुके थे.आपको जानकर हैरानी होगी  "Ransomware Attack. एप्पल के कम्प्यूटर में कोई असर नहीं पड़ा. 


मुख्यत ये Spam links या Email के द्वारा ही हमारे computer या Mobile को आता है या इंटरनेट से डाउनलोड किया गया सॉफ्टवेयर से भी "Ransomware Attack होता है.


सबसे पहले जिसे target किया गया होता है उसे एक email आता है जिसमे एक malicious लिंक छुपा होता है, और यदि वह user उस लिंक को खोल दे तब एक छोटा सा प्रोग्राम automatically download हो जाता है.
दूसरा तरीका है की यदि user कोई malicious website view कर रहा हो और कोई ऐसी चीज़ download करे जिसके बारे में उसे कोई जानकारी न हो तब भी वहां से Ransomware आपके system में प्रबेश कर सकता है.
जिस downloader से user उस program को download किया हुआ होता है वह program कुछ इस प्रकार से डिजाईन किया गया होता है की वह एक लिस्ट of Domains or C&C Servers को request भेजता है ताकि कोई advanced Ransomware program download कर सके.


Kaise Bache Ransomware Attack se बचाओ का तरीका
  • अपने महत्वपूर्ण data को PC में न रखें
  • यथा संभव अपने data की backup रखें online और offline दोनों में
  • Online Backup को हमेशा turned on by default न करें, जब इस्तमाल करें तभी इसे on करें. दिन में एक बार अपने data को sync कर दें.
  • हमेशा अपने software को update रखें, यहाँ तक की latest Security Updates का इस्तमाल करें.
  • Outdated softwares और plugins का इस्तमाल न करें.
  • Ad-Blocker का इस्तमाल करें अनचाही Malicious Ads से बचने के लिए.
  • किसी भी अपरिचित sender से आया हुआ email open न करें.
  • Spam Emails के attachment download न करें.
  • Malicious Website के links को click न करें.
  • हमेशा अच्छे AntiVirus Program का इस्तमाल करें और उसे समय समय पे update करें.
What do you say ?

Post a Comment

Please share your thoughts...

Note: only a member of this blog may post a comment.

About Author

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.