What is bitcoins in Hindi - Bitcoins kya hai

Bitcoin का निर्माण 2008 में " सातोशी नकामोतो, नामक एक इंसान ने किया है, लेकिन 3 January 2009 को Open Source Software released हुआ था,  Bitcoin एक Cryptocurrency है, और यह दुनिया भर में भुगतान प्रणाली है, यह पहली विकेन्द्रीकृत डिजिटल मुद्रा ( decentralized digital currency ) है, यह किसी भी केंद्रीय बैंक द्वारा संचालित नहीं है, ये कंप्यूटर नेटवर्किंग पर आधारित है, और भुगतान हेतु इसे निर्मित किया गया है.




Bitcoin World का प्रथम Open Source Payment System है, दुनिया भर में 1 crore से अधिक Bitcoin हैं, हम आपको बता दे की Bitcoin एक virtual currency है, virtual currency मतलब Online Shopping और लेनदेन के लिए इसका इस्तेमाल कर सकते हैं, और इसे माइनिंग Mining द्वारा कमाया जाता है, और इसे Store करने के लिये Bitcoin Wallet की जरुरत होती है, यह एक ऐसी Currency है, जो आप ना तो देख सकते हैं, और न ही छू सकते हैं, यह केवल Electronic Store  होती है.

     How to Sell Bitcoin step by Step in Hindi

लोग कम कीमत पर Bitcoin खरीद कर ऊंचे दामों पर बेच कर कारोबार कर रहे हैं, आप जानकर हैरानी होगी Debit Card and Credit Card से भुगतान ( Payment ) करने में लगभग 2 से 3% लेनदेन शुल्क लगता है, लेकिन Bitcoin में ऐसा कुछ नहीं होता है, इसके लेनदेन में कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लगता है, जिसके कारन पुरे World में Bitcoin Trading चल रहा है.
Why use bitcoin -Bitcoin Kyun Istemal karte hai :

Bitcoin का इस्तेमाल हम Online payment करने के लिए या किसी भी तरह का Transactions करने के लिए कर सकते हैं. Bitcoin Peer to Peer Network based पर काम करता है जिसका मतलब है, की लोग एक दुसरे के साथ Direct Transactions बिना किसी Bank Debit Card and Credit card या फिर किसी company के माध्यम से आसानी से Transactions सकते हैं. 

how to bitcoin earn in hindi - bitcoin se Paise Kaise Kamaye

bitcoin का Use whole world में Global Payment के लिए किया जा रहा है,ये आप भी जानते है, currencies का Use कर हम Online transactions करते हैं, तो banks के payment process को हमें follow करना होता है, और हम payment कर पाते हैं और हमारे किये गए हर transactions का हिसाब हमारे bank account में मौजूद रहता है, जिससे की ये पता लगाया जा सकता है, की पैसे कहाँ - कहाँ transactions किया गया है, और कितने खर्च किये गए हैं.


लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी, Bitcoin का तो कोई भी मालिक नहीं है, इसलिए उसके साथ किये गए Transactions एक public ledger में Record रहता हैं, जिसे bitcoin " blockchain, कहते हैं, वहां पर bitcoin के साथ किये गए सभी transactions details store record रहते हैं, और block chain इसका Proof होता है की transaction हुआ है, या नहीं


bitcoin wallet : bitcoin wallet kya hai : 

Bitcoin को आप सिर्फ Electronically store कर सकते हैं, और इसे रखने के लिए bitcoin wallet की जरुरत होती है, Bitcoin wallets बहुत से प्रकार के होते हैं.

Example : desktop wallet, mobile wallet, online web wallet, hardware wallet इन में से एक wallet का इस्तेमाल कर आपको इसमें account बनाना होता है.

How to buy bitcoin in India - Bitcoin Kaise Kharide


bitcoin wallet हमें address के रूप में unique id Provided करती है, जैसे की मान लीजिये आप bitcoin खरीद कर ज्यादा कमाया है, और उसको अपने account में store करना है, तो आपको वहां पर उस address की जरुरत पड़ेगी और उसी के Help  से आप bitcoin को अपने wallet में रख सकते हैं.

इसके अलावा अगर आपको bitcoin खरीदना है या बेचना है तो आपको bitcoin wallet की जरुरत पड़ती है, और इसके बाद आप जो bitcoin को भी बेचते हैं, इसके बदले में आपको जितने भी पैसे मिलते हैं, वो आप अपने bank account में भी transfer bitcoin wallet के जरिये करवा सकते हैं.

Benefits of Bitcoin - Bitcoin Ke Fayde : 

Transaction Credit Card and Debit Card से payment करने के मुकाबले बहुत ही कम होता है.

Bitcoin को आप दुनिया में कहीं भी और कभी भी भेज सकते हैं.

bitcoin का Account कभी block नहीं होता, आपने कभी भी Transaction किया होगा, और किसी कारण यानि Link Down हो जाता है, या Credit Card या Debit Card को block कर देता है, तो वो समस्या Bitcoin में नहीं होती.

अगर आप सोच रहे है,की Long Term के लिए bitcoin में invest करना चाहते हैं, तो आपको इससे काफी फायेदा हो सकता है, क्यूंकि ऐसा record में देखा गया है, की bitcoin की कीमत जो है, वो बढ़ रहता है, तो आगे चल कर हो सकता है, आपको इससे बहुत फायेदा मिले सके. 

Bitcoin की transaction process में कोई सरकार या authority जो है, वो आपके ऊपर नज़र नहीं रखती है.
What is Bitcoin Mining - Bitcoin Kya hai :

Bitcoin बनाने के तरीके को Bitcoin Mining कहा जाता है, Bitcoin Mining का मतलब एक ऐसी Process है जिसमें  Computer processing power का इस्तेमाल कर Transaction Process किया जाता है, Network को सुरक्षित रखा जाता है, साथ ही नेटवर्क को Synchronized भी किया जाता है, यह 1-bit Computer Center की तरह है, पर यह डी सेंट्रलाइज सिस्टम है.

दुनिया भर में स्थित माइनरस कंट्रोल करते हैं, माइनरस वो होते हैं, जो Bitcoin Mining का कार्य करते हैं, आपको हम बता दे की एक इंसान Mining को स Control नहीं कर सकता, Bitcoin माइनरस को Bitcoin Mining के लिए  एक  Special Hardware या कहें तो एक PowerFull Computer जिसकी Processing तीव्र हो की आवश्यकता होती है.

Bitcoin Mining Software की Important होती है, माइनरस अगर  Transaction को Complete कर लेते हैं, तो उन्हें  transaction Fees मिलती है, यह  transaction Fee Bitcoin के रूप में ही होती है, एक नई  Transaction को Conformation होने के लिए उंहें BLOCK में शामिल करना पड़ता है.


Bitcoin Value in India : 

Bitcoin की Value की बात किया जाये तो जनवरी 2017 में 1 Bitcoin की कीमत कीमत लगभग 70,000 Indian Currency है. ऐसा नहीं है, कि आपको अगर Bitcoin Buy करना चाहते है, तो आपको 1 Bitcoin ही खरीदना पड़ेगा, दरअसल बिटकॉइन की सबसे छोटी यूनिट Santoshi है, और 1 Bitcoin = 10,00,00,000 Core Santoshi होता है.

इसकी value increase or decrease होती रहती है, Bitcoin को control करने के लिए कोई authority नहीं है, इसलिए इसकी value increase or decrease होती रहती है.

What is Block chain - Block Chain Kya hai :   

Block chain एक ऐसी Technology है, जिसे Digital Transaction Record करने के लिए Program किया गया है, और इसे Hack करना बहुत ही मुश्किल है, क्योकि Hacker को Database Hack करने के लिए एक साथ कई हजारो Computers को हैक करना पड़ेगा और Cyber Crime और Hacking को रोकने के लिए Block Chain तकनीक को फुलप्रूफ सिस्‍टम के तौर पर जाना जाता है, Block chain यह एक Distributed Network की तरह कार्य करता है, Database के सभी Record एक Computer में Store नहीं होते, बल्कि 1000 Computers या लाखों Computers में Distributed होते है, Block chain fault Tolerant भी है, यानि इस System में यदि एक system खराब भी हो जाता है, तो यह system काम करता रहता है.

What is Proof of Work - Proof of Work Kya hai.

Proof of Work bitcoin Data का एक छोटा हिस्सा है, जो Mining की Digital और time लेने वाली process के रूप होता है, Proof of Work Notice का production कम संभावना के साथ एक Random process हो सकती है, इसलिए एक Valid Proof of Work Construction के लिए कई Effort

चाहिए होते है, Bitcoin इस काम के लिए Hashcash (#) Proof का Use होता है.

Block chain का First time use 2008 में हुआ था, जब Bitcoin नामक एक Digital currency का अविष्कार हुआ, कोई भी Block Chain  में अपना खता बनाकर इसके ज़रिये Bitcoin का लेन देन कर सकता है, Bitcoin की सबसे छोटी संख्या को सातोशी कहा जाता है, एक बिटकॉइन में 10 करोड़ सातोशी होते हैं, यानी 0.00000001 BTC को एक सातोशी कहा जाता है.

Block chain Used - Block Chain ka upyog : 

Information Technology
Data management
Organizational administration
Education
Gaming system
Share Market
Social network
Digital identity
substantiation
Community service
Network infrastructure
Media & Market



सावधना :  भारतीय रिजर्व बैंक ( Reserve bank of India ) द्वारा 24 दिसम्बर 2013 को Bitcoin जैसी वर्चुअल मुद्राओं ( Virtual Currency ) के सम्बन्ध में एक प्रेस प्रकाशित जारी की गयी थी, इसमें कहा गया था, की इन मुद्राओं के लेन-देन को कोई अधिकारिक अनुमति नहीं दी गयी है, और इसका लेन-देन करने में कईं स्तर पर जोखिम है, और 1 February 2017 और 5 December  2017 को Reserve bank of India ( रिजर्व बैंक ) ने पुन: इसके बारे में सावधानी जारी की थी.

मेरी भी सलाह है, आप सोच समझ कर कदम उठाये पूरी तरीके से Bitcoin के बारे में जान ले, अगर आप गलती करते है, तो इसका जिम्मेदार Paliganjtimes नहीं होगी
What do you say ?

Post a Comment

Please share your thoughts...

Note: only a member of this blog may post a comment.

About Author

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.