2017

" Swine Flu, ka Khatra kafi badh gaya hain, har sal Swine Flu se Logo ko Jan Chali jati hain. or Ministry of Health ne Swine Flu se Bachne ke liye Bharpur Intezam kiye hai, to aaye hum appko Swine Flu ke bare me jante hain.  


# Swine Flu kya hai / स्वाइन फ्लू क्या है

Swine Influenza ek Flu Virus ke Apekshakrit naye Strain Influenza Virus "A, se hone wali Infection hai, hum is Virus ko H1N1 bhi kehte hain.

Haalnki H1N2, H3N1 Or H3N2 ke roop me Strain bhi Sauron ( Pig ) me maujood rehte hain, 

2009 or 2010 me " Swine Flu,Virus ne Mahamari ka roop le Liya tha, Hum aapko bata de ki " WHO, ne "10 August 2010, me is Mahamari ke Khatam hone ka bhi Ailan kar diya tha.

April " 2009, me ise Sabse Pahale Mexico me Pehchana gaya tha, Fir ise " SWINE  FLU,  ka naam rakha. tabhi se Puri Duniya me Swine Flu ke naam se janne lage.

Bhart me  Events 2009, 2010, 2012 or 2013 me 2015 me Sabse Jayda rahi hai, Swine Flu ke Mamle me " Specially, Jan or Feb ke Dauran "Growth, hue hai, or Mukh roop se  
  • राजस्थान,
  • गुजरात,
  • हरियाणा, 
  • पंजाब दिल्ली, 
  • महाराष्ट्र, 
  • मध्य प्रदेश, 
  • कर्नाटक, 
  • तमिलनाडु,
  •  तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के " States Se Bhi Report Mil rahi hai. 

Swine Flu kaise hota hai / स्वाइन फ्लू कैसे होता है

Swine Influenza Amtaur par Sauron ( Pig ) me hi paye jate hain, jo ki har rek Sauron ( Pig ) me hota hain, hum bata de ki " Human body, me iska paya jana bahut kam Dekhne ko Milta hain.

H1N1 Virus Manav ke Sauron ( Pig ) se Jyada Contact me Rehne ke Karan " Human Body, me Aate hain, Agar aap Sauron ( Pig ) ke Meat thik se na Pakaye to " Swine influenza-H1N1 Jise Swine Flu kehate hai. or  " Human Body, me Phail Jata hai.

Swine Flu ek Vyakti  se Dusre Vyakti me Phail raha hai, Yah H1N1 Wind (वायु) ke Jariye Phailta hai, Swine Flu ke Lakshan influenza jaise hi hota hai,
  • Nak ka Lagatar Bahan : नाक का लगातार बहना
  • Chik aana - छींक आना
  • Cough - कफ, 
  • Cold and continuously cough - कोल्ड और लगातार खांसी
  • Muscles Pain and Cramp - मांसपेशियां में दर्द या अकड़न
  • Head pain - सिर में भयानक दर्द
  • नींद न आना, 
  • ज्यादा थकान
  • दवा खाने पर भी बुखार का लगातार बढ़ना
  • गले में खराश का लगातार बढ़ते जाना
Swine Flu ka Virus Bahut Teji se Phailta hai, agar kisi me Swine Flu ke Lakshan dikhe to kam se kam 3-fit Duri Banaye rakhe.


# Kaise Phailta hai Swine Flu / कैसे फैलता है स्वाइन फ्लू ?

Dekhiye Swine Flu ka Virus Wind Yani hawa me Transfer hota hai 
Jise खांसने (Coughing), छींकने (Sneezing), थूकने (Spitting) se Virus " Healthful, Logo tak Pahuch jata hai.

# Swine flu kin logo ko zaldi ho jata hai ?
  •     5 Saal se kam Aayu ke Baccho ko.
  •     50 saal se Zada Aayu ke Logo ko.
  •     Jin Logo ka rog Pratirodhak Sakti kam hain.
  •     Jo Insan Pahle se hi kisi Bimari Kevdwara Affected hain.


बीमारी चाहे कोई भी हो या फिर कितनी ही गंभीर क्यों ना हो लेकिन उससे बचने के लिए कोई ना कोई घरेलू उपाय जरूर होता है.


#  Swine Flu se Kaise Bache / स्वाइन फ्लू से कैसे बचे ? 

Iska bada " Solution,hai, Halanki iska Treatment bhi Maujood hain, to Aaiye Jaane Swine Flu se Kaise Bache.

" Swine Flu, se Bachne ke Liye Kapoor ka Istemal kiya ja Sakta hain, Or kaise Istemal karna hum Aapko Jankari de rahe hain.


1.  Kapoor, peppermint or ajwain ke Sath Rumal me Bandh kar  Or Smell kare. 


2.  Pani Yani Water me Adarak yani Ginger, Tulsi or Cloves yani Laung Ubal kar Honey me Milkar Piye.


3. Giloy or Tulsi ka Juice Bankar din me 2 se 3 bar Piye.



4. Gun-gune Pani me Chutaki Bhar " Sendha namak, dal kar din bhar pite rahe.


5.  Week me ek bar Chutaki Bhar " Kapoor,Cow ka " Sudh Ghee,
or " Mishree, milakar le.


6.  Rat ko sone se pehale " Dudh (Milk), me " Haldi, " Kali Mirch, Or " Dal Chini, Ubal kar Piye.



       
#  Safai ka dhyan rakhen
  • Agar Sardi - Jukam, Bukhar, Badan me dard jayda dino tak rahe to Nazdiki Doctor jarur contact kare.
  • Daily " Half an Hour, agar aap baithe hai to aapke Body Heat ho jati hai jikse Phayde hai, ki aapko Swine Flu se Bachao hoga.
  • Apne haaton ko har roz sabun utkar garam pani se dhoyen. yadi aap khana khane baith rahe hain to khane se pehle zaroor haath dho le.
  • Yadi aap kisi aise jagah gaye hain jahan bahut bheed hai aur apko kai logon se haath milana bhi padta hai to bhi baad me aap acche sabun se haath doh len.
  • Mausam ke badalte samay apne aap ko khas taur tarike se dhyan rakhe. 
  • Aap doctor ki salah lekar " Swine Flu,  ka injection lagwa le. Iss injection ko lagane ke 21 din ke baad humara body swine flu  ke khatre se puri tarah se mukt ho jata hain aur iska asar 1 saal tak rahta hain.
  • apne aas pas saaf- safayi banaye rakhe. aapke aas pas jitna hi saaf safayi bana rahega utna hi aapko infection hone ka khatra kam rahega.

#  Swine Flu hi kyu naam rakha gaya  /  स्वाइन फ्लू ही क्यों नाम रखा गया

kyuki Suar me bhi Flu phailane wali influenzaVirus se ye Bilkul Milta Julta hai.


#  Swine Flu kaise Su Bich Phailta hai.

Hum aapko bata de ki agar we ek sankarmit suar hai, or uski Chori gaye Sans ki Bunde ko apni sans me Khichati hai, unhe ek sankarmit suar ke sath Evident ( प्रत्यक्ष ) ya Indirect (अप्रत्यक्ष ) ke roop se contact se bhi sankaaman ho sakta hai.


# Sankarmit Sauron ( Pig ) ke Lakshan Kya hai ?

Sauron ( Pig ) me Swine Flu ke Lakshan सुस्ती, बुखार, खांसी और सांस Lene me Muskil adi ho skate hai, Kuch Sankarmit Sauron ( Pig )- ( Lagbhag 1 se 4% ) mar skate hai.

पालीगंज : कुरकुरी पंचायत के रानीपुर गांव में निवासी पर्यावरणविद बन चुके है, 60 वर्षीय " प्रमोद सिंह,  जिन्होंने अब तक सैंकडों पेड़ लगा चुके है,

पेड़ लगाने और उसकी सुरक्षा की संकल्प ले चुके है, प्रमोद सिंह बताते है, की अब हमारी जिंदगी की एक ही मकसद है, सिर्फ पेड़ लगाना लगभग 20 वर्षो से सन्यासी जीवन व्यतीत करते हुए वेसे तो कई पेड़ लगा चुके है, वे सभी पेड़ अब बड़े भी हो चुके है,




उसमे फलदार वृक्ष आम, जामुन केसाथ 'बबूल 'पीपल ,बड़ -पाकड़ के साथ फूलो के भी कई दर्जन पेड़ लगा चुके है, जोकि गांव को हरे भरे स्पष्ट रूप से दिखाई देते है, गाँव की पूर्व दिशा में इसकी स्पष्ट झलक दिखाई देती नजर आती है, अब सड़क किनारे दोनों ओर पीपल ,बड़ पाकड़ के साथ फलदार पेड़ आम -अमरुद के भी लगाएंगे है. 

 

इस वर्ष लगभग 50 पेड़ लगा चुके जिसमें पीपल और बड़ पाकड़ है, वे अगले साल फलदार वृक्ष लगाने की संकल्प ले चुके है, वे कहते है,  पेड़ लगाने से महत्वपूर्ण उसकी देखभाल करना जरूरी होता है, मैं अपने द्वारा लगाए गए पेड़ो की सुरक्षा भी करता हूँ.

पालीगंज अनुमंडल मुख्यालय प्रखंड के मख्मिलपुर - मध्यमा पंचायत के मुखिया देवलोचन मोची को जान से मारने की धमकी पंचायत के ही एक व्यक्ति ने दबंगई दिखाते हुए दी, इस घटना प्राथमिकी दर्ज पालीगंज थाने में दर्ज करवाई गई.




जानकारी के अनुसार मुखिया देवलोचन मोची ने बताया कि हम त 3 बजे के करीब मोटरसाइकिल से अपने ही पंचायत के सिकंदरपुर गाँव से गुजर रहे थे, की जैसे ही राजकीय विद्यालय के पहुचे की इसी गांव के सुबाष यादव उर्फ नेपाली यादव मुझे रास्ते मे ही रोकते हुए मेरे साथ अभद्र व्यवहार करते हुए जाती सूचक अशब्द शब्दों का प्रयोग करते हुए गाली गलौज करने लगे, और हमने विरोध भी किया तो उल्टे मेरे साथ मारपीट करते हुए 15 हजार रुपए भी छीन लिया और जान से मारने की धमकी देते हुए कहा की ज्यादा बोलेगा तो घर पर चढ़कर गोली मार दूँगा.









इस घटना से भयभीत होते हुए अपनी जान की सुरक्षा का गुहार लगाते हुए मुखिया देवलोचन मोची ने स्थानीय थाने में लिखित शिकायत प्राथमिकी दर्ज करवाई है.  

News : amlesh sir

पालीगंज - बिहटा मुख्य मार्ग पर दुल्हिन बाजार थाने के नवीनगर गांव के पास बस और पिकअप वैन में हुई भिड़ंत हुई, जिसमें दोनों गाड़ी के ड्रावर कन्डेक्टर समेत कई यात्री भी जख्मी हो गए.




जानकारी के अनुसार बस ड्रावर मिथलेश यादव पालीगंज थाने के चकिया गाँव और कन्डेक्टर बिनोद राम मिल्की गांव का रहने वाला है साथी पिकअप के ड्रावर भी गम्भीर रूप से जख्मी है.




जिसे डाक्टरो ने प्राथमिक ईलाज के बाद बेहतर ईलाज के लिए पटना PMCH भेज दिया गया है.


News : amlesh sir

देश के कई राज्यो में सैंकडो औरते और लड़कियों के चोटी कटने की मामले से हड़कम और दहशत का माहौल बन गया है, ऐसा ही घटना पालीगंज के खिड़ीमोड़ थाने के क्षेत्र पटौना गाँव मे एक 15 वर्षीय लड़की काजल कुमारी सोने के दौरान बेहोशी की हालत में कटी हुई चोटी सुबह पाए जाने का मामला सामने पाई गई,


जिससे आम लोगो मे तहलका मचने से महिलाओं और लड़कियों के बीच दहशत का माहौल बनते जा रहा है, जानकारी के अनुसार 15 वर्षीय लड़की काजल कुमार के परिजनों ने बताया कि वह रात में खाना खाकर सोइ थी जब सुबह उसकी नानी ने उसे सुबह उठाने गई तो काजल बेहोस सोई हुई थी.

और उसके बगल में उसकी चोटी कटी हुई मिली, उसे हरसम्भव जगाने का प्रयास किया लेकिन वह नही उठी, उसके बाद इसके नाना परमानंद ठाकुर जोकि डाक्टरी भी करते है, उसे पानी चढ़ाने के साथ उसकी उपचार भी किया लेकिन लाख प्रयास के वावजूद भी उसमे सफलता नही मिली, चोटी कटने के बाद से बेहोशी की हालत में उसे पीएमसीएच पटना इलाज के लिए भेज गया है,काजल कुमारी परमानन्द ठाकुर की नतिनी है, जोकि अपनी ननिहाल में रहकर पढ़ाई करती है.


news : amlesh sir

उत्तर कोरिया और अमेरिका का तनाव बढ़ गया है, अब कभी भी महा युद्ध हो सकती है, जो दुनिया को कभी भी तीसरे वर्ल्ड वॉर में झोंक सकते हैं, एक-दूसरे को धमकियां देने का दौर अब घातक वेपंस की प्रदर्शनी में तब्दील हो चुका है, जो कभी भी हो सकने वाली बर्बादी का इशारा करते हैं, इसी सिलसिले में आज हम आपको उन देशों के बारे में बता रहे हैं, जो अपने साथ-साथ पूरी दुनिया के लिए खतरा बने हुए हैं.


डॉनल्ड ट्रंप ने चेतावनी देते हुए कहा है कि इस तरह कार्रवाई करेगा कि दुनिया ने ऐसा पहले कभी देखा नहीं होगा, तेवर को बरकरार रखते हुए कहा है, इतना ही नहीं, नॉर्थ कोरिया ने तो गुआम पर हमला करने की भी धमकी दे दी.



जापान ने तो उत्तर कोरिया की ओर से परमाणु हमले की आशंकाओं को ध्यान में रखते हुए अपने यहां लोगों को ऐसी स्थिति के मद्देनजर खास प्रशिक्षण देना भी शुरू कर दिया है, देश यही सोच रहे हैं, कि क्या दुनिया तीसरे विश्व युद्ध की कगार पर पहुंच चुकी है.

सरिसर्च के मुताबिक जो वजन के मामले में फिट होते हैं, लेकिन निंतब, जांघ और पांव में फैट ज़्यादा होता है, उनमें स्ट्रोक, डायबिटीज और हार्ट अटैक की आशंका कम होती है.

सेल रिसर्च जर्नल में यह स्टडी छपी है, इस शोध के अनुसार जिन लोगों के निचले हिस्से में फैट कम होता है, उनमें हृदय रोग और मौत की आशंका ज़्यादा होती है.

हालांकि, यह शोध भारी-भकरम लोगों पर लागू नहीं होता है, इसका कारण यह है, कि भारी-भरकम लोगों के फेफड़े और हृदय के आसपास चर्बी ज़्यादा होती है और इनमें हार्ट अटैक की आशंका पहले से ही ज़्यादा होती है.



डायबिटीज विशेषज्ञ डॉ नोर्बर्ट स्टीफन ने इस शोध के समर्थन में कहा कि स्वस्थ वजन वाले वे लोग ज़्यादा दुरुस्त होते हैं, जिनके शरीर का आकार सेब की तुलना में नाशपाती की तरह होता है.

नितंब और जांघ चर्बी को खपाने के लिए सुरक्षित जगह हैं, उन्होंने कहा कि पेट की चर्बी की तुलना में जांघ और नितंब की चर्बी ठीक होती है.

इस शोध के मुताबिक पेट की चर्बी ख़ून में फैटी एसिड ज़्यादा छोड़ती है, इसके कारण डायबिटीज, इन्सुलिन प्रतिरोधक और कोलेस्ट्रोल का ख़तरा बढ़ता है. 

" ओसामा बिन लादेन, का जन्म, " सउदी अरब, में हुआ था, और बिन लादेन का पिता का नाम " Mohammed bin Awad bin Laden,और माता का नाम " Hamida al-Attas, है, बिन लादेन के पिता मोहम्मद बिन लादेन सऊदी अरब के अरबपति बिल्डर थे,जिनकी कंपनी ने देश की लगभग 80 फ़ीसदी सड़कों का निर्माण किया था. 



ओसामा बिन लादेन के पिता " 1968, में एक हेलिकॉप्टर दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी, उसके बाद "1969, ओसामा बिन लादेन, सऊदी अरब के " शाह अब्दुल्ला अज़ीज़ विश्वविद्यालय, में " सिविल इंज़ीनियरिंग,से पढ़ाई की.

" 1973, ओसामा बिन लादेन पढ़ाई के वक्त " कट्टरपंथी इस्लामी शिक्षकों और छात्रों के संपर्क में आए,  


" 1989, में , " अफगानिस्तान,  में सोवियत संघ के हटने के बाद लादेन परिवार की निर्माण कंपनी के लिए काम करने के उद्देश्य से सउदी अरब लौट गया, उसने अफगान युद्ध में मदद के उद्देश्य से कोष जुटाना शुरू कर दिया, अल कायदा वैश्विक गुट बना, मुख्यालय अफगानिस्तान रहा, जबकि उसके सदस्य 35 से 60 देशों में मौजूद थे.

"1993, में " वर्ल्ड ट्रेड सेंटर, पर बम गिरा, छह की मौत, सैकड़ों घायल, इस संबंध में छह मुस्लिम कट्टरपंथी दोषी ठहराए गए, अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक, इनके संबंध लादेन से थे, नवंबर में रियाद में एक इमारत के सामने बम फटा, इस इमारत में अमेरिकी सैन्य परामर्शकार काम करते थे, अमेरिका के पांच और भारत के दो नागरिक मारे गए, हमले में 60 से भी ज्यादा लोग घायल.


" 1995, में नैरोबी और तंजानिया के दार ए सलाम में अमेरिकी दूतावासों के बाहर बम विस्फोट किया गया , 224 की मौत हुई. 

" 1998, अमेरिका की एक अदालत ने दूतावासों पर बमबारी के आरोप में लादेन को दोषी ठहराया, ओसामा पर " 50 लाख, डॉलर का इनाम भी रखा गया,


"2001, अल-कायदा प्रमुख ने 11 सितंबर को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के ट्विन टॉवर्स और पेंटागन पर हमला किया 3,000 से ज्यादा लोग मारे गये, इस हमले के बाद अमेरिकी सरकार ने लादेन का नाम मुख्य संदिग्ध के तौर पर घोषित किया, अमेरिकी सुरक्षा बल " अफगानिस्तान, स्थित तोरा-बोरा की पहाड़ियों में छिपे लादेन को मारने में असफल रहे, खबरों के मुताबिक, लादेन " पाकिस्तान, भागा है, और वही रह रहा है, 


4 जनवरी 2004 को, अल-जजीरा ने दोबारा " लादेन, के टेप जारी किया, मार्च में अमेरिकी रक्षा अधिकारियों ने अफगान पाकिस्तान सीमा के पास " ओसामा बिन लादेन, के लिए खोज करने के लिए जी तोर लगा दिया गया. 


" 02 मई 2011,अमेरिका ने इस्लामाबाद के पास ( अब्बॊटाबाद ) में  एक विशेष अभियान में " ओसामा बिन लादेन, को मार गिराया.


# अफ़वाहें 

कुछ समाचार पत्रों के अनुसार ओसामा बिन लादेन " अभी तक ज़िंदा है, और वो वर्तमान में अमेरिका में रह रहा है, यह सब अमेरिका की सीआईए के पूर्व कर्मचारी एडवर्ड स्नोडन ने दावा किया है.



" आप ओसामा बिन लादेन का डॉक्यूमेंट्री भी देख सकते है,



News source

ये दृश्य देखने के बाद ऐसा लग रहा है, जैसे पूरी दुनिया खत्म होने को है, हम आपको बता दे, ज्वालामुखी पृथ्वी की सतह पर उपस्थित ऐसी दरार या मुख होता है, जिससे पृथ्वी के भीतर का गर्म लावा, गैस, राख आदि बाहर आते हैं. कुछ ऐसे देखने को मिला है, ये वीडियो " Feb 5, 2017, को रिकॉर्ड की गई,
 


आप भी देख सकते है, वीडियो :
 

" बिहार विधानसभा, में शुक्रवार को " नीतीश कुमार मंत्रिमंडल ने विश्वास मत जीत लिया और उसके पक्ष में 131 और विपक्ष में 108 मत पड़े,  विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने सदन में घोषणा की कि विश्वास मत के प्रस्ताव के पक्ष में 131 मत पड़े जबकि इसके विरोध में 108 मत मिला,


मुख्यमंत्री, " नीतीश कुमार, ने कहा कि अहंकार में जीने वाले लोग भ्रम पाले हुए है, और एक पार्टी के अस्तित्व को ही नकार रहे हैं, उन्हें पता होना चाहिए कि विधानसभा चुनाव में जनादेश काम करने के लिए मिला था।, उन्होंने कहा कि उनके सामने कई कठिनाइयां आईं लेकिन उन्होंने गठबंधन धर्म का पालन करते हुए पारदर्शिता के साथ बिहार के लोगों की सेवा करने की कोशिश की जबकि दूसरे पक्ष की ओर से गठबंधन धर्म के विपरीत आचरण होता रहा और इसे वह झेलते रहे.



" नितीश कुमार, ने कहा कि यह सही है, कि उन्होंने " तेजस्वी यादव, से इस्तीफा नहीं मांगा था, बल्कि उनपर लगे आरोपों के संबंध में सफाई देने के लिए कहा था, इस पर यादव ने उनसे पूछा था, कि वही बतायें कि वह लोगों के बीच जाकर क्या कहें, तब उन्होंने यादव से कहा था, कि वह उनके ऊपर लगे आरोपों के संबंध में बिंदुवार जवाब दें, इस पर राजद के कुछ सदस्यों ने जब कहा कि क्या आप कोर्ट है इस पर कुमार ने कहा कि जनता की अदालत सबसे बड़ी अदालत होती है, उन्होंने कहा कि जब यादव ने सफाई नहीं दी तब उन्हें लग गया कि यादव के पास कहने के लिए कुछ भी नहीं है या वह जवाब देने की स्थिति में नहीं हैं.

बॉलीवुड एक्टर " संजय दत्त, की मुश्किलें फिर बढ़ सकती हैं, दरअसल, संजय दत्त की समय से पूर्व रिहाई के मामले में आज बॉम्बे हाईकोर्ट में सुनवाई हुई, सुनवाई के दौरान महाराष्ट्र सरकार ने संजय को "1993, के बम विस्फोट मामले में दी गई सजा की अवधि से 8 महीने पहले रिहा और वीआईपी ट्रीटमेंट दिए जाने के आरोपों पर दोबारा जांच करने के आदेश दिए हैं.


 

महाराष्ट्र सरकार के मुताबिक, अगर संजय को जेल के अंदर वीआईपी ट्रीटमेंट मिलने की बात सच साबित हुई तो उन्हें दोबारा जेल भेज दिया जाएगा, सरकार ने कहा, अगर संजय को पैरोल या फर्लो देने में नियम तोड़े गए हैं तो उन्हें वापस जेल भेजे जाने पर सरकार को कोई एतराज नहीं है.


News source : https://goo.gl/fj1ZAz

तेजस्वी यादव पर जेडीयू-आरजेडी में बढ़ती तकरार के बीच बिहार के सीएम "नीतीश कुमार, ने बुधवार शाम गवर्नर को इस्तीफा सौंप दिया, नीतीश कुमार पार्टी की विधायक दल की मीटिंग के बाद सीधे गवर्नर हाउस गए थे, जहां उन्होंने केसरी नाथ त्रिपाठी को अपना इस्तीफा सौंपा दिया,  वे बोले, " आगे क्या होगा, ये आगे पर छोड़ दीजिए, आज का चैप्टर यहीं खत्म.
 

" नीतीश कुमार, के इस्तीफे के बाद " नरेंद्र मोदी, ने ट्वीट कर उन्हें बधाई दी,





 

इससे पहले लालू यादव ने कहा था, कि बिहार सरकार 5 साल पूरे करेगी, लेकिन नीतीश के इस्तीफे के बाद अब सवाल सामने आ रहा है, कि महागठबंधन बचेगा या फिर टूटेगा,


गवर्नर को इस्तीफा सौंपने के बाद नीतीश कुमार ने कहा, '' मैंने अभी महामहिम को इस्तीफा सौंपा है, महागठबंधन की सरकार 20 महीने से भी ज्यादा समय तक चलाई है, और मुझसे जितना संभव हुआ, हमने गठबंधन धर्म का पालन करते हुए बिहार की जनता के समक्ष चुनाव के दौरान जिन बातों की चर्चा की थी, उसी के मुताबिक हमने काम करने की कोशिश की थी,

हमने शराबबंदी लागू कर सामाजिक परिवर्तन की नींव रखी, बुनियादी ढांचे का विकास हो, सड़क हो, बिजली का मामला हो, सभी के लिए हमने निरंतर काम करने की कोशिश की और निश्चय यात्रा के दौरान हर जिले में जिन योजनाओं का क्रियान्वयन हो रहा है, उन्हें स्पाॅट पर देखा। जितना संभव था, हमने काम करने की कोशिश की,

20 महीने में एक तिहाई कार्यकाल पूरा किया, जिस तरह की चीजें सामने आईं, उसमें मेरे लिए महागठबंधन का नेतृत्व करना और काम करना संभव नहीं था,हमने किसी का इस्तीफा नहीं मांगा, हमारी लालूजी से भी बात होती रही, तेजस्वीजी से भी मिले, हमने यही कहा कि जो भी आरोप लगे, उसके बारे में एक्सप्लेन कीजिए,आमजन के बीच में जो एक अवधारणा बन रही है, उसको ठीक करने के लिए एक्सप्लेन करना जरूरी है,लेकिन वह भी नहीं हो रहा था.


मैंने कौन-सा प्रयत्न नहीं किया, नोटबंदी का मसला आया तो हमने उसका समर्थन किया, मुझ पर न जाने क्या-क्या आरोप लग गए, जब हम नोटबंदी का समर्थन कर रहे थे, तो हमने साफ-साफ कहा था, कि बेनामी संपत्ति पर भी कार्रवाई कीजिए, तो फिर हम इस मुद्दे पर कैसे पीछे जा सकते हैं.


हम हमेशा गांधीजी को कोट करते हैं,गलत तरीके से संपत्ति अर्जित करना ठीक नहीं होता,कफन में छेद नहीं होता, जो भी है, यहीं रहेगा, ऐसी परिस्थिति में आप समझ सकते हैं, गठबंधन और विपक्षी एकता की जहां तक बात है, तो हम इसके पक्षधर रहे हैं, लेकिन इसका एजेंडा भी तो होना चाहिए, क्या हम अपनी सोच को प्रकट नहीं कर सकते।

हमारे बिहार के गर्वनर रहे हैं, गर्व की बात है, कि राष्ट्रपति बनने जा रहे हैं, हमने समर्थन दिया तो न जाने क्या-क्या आरोप लगाए गए,  मैं सब झेलता रहा, अब हम क्या कर सकते हैं, सोच का दायरा भी अलग है, न एजेंडा है, उस पर कोई चर्चा नहीं हुई इतने दिनों में,  इसके बाद जिस बिहार के लिए काम कर रहे हैं, वहां जनमत में इसके अलावा कोई बात नहीं हो रही है तो हमें स्टैंड लेना जरूरी था, अंतरआत्मा की आवाज को समझा कि मेरे जैसे व्यक्ति के लिए यह सरकार चलाना संभव नहीं है.


चारों तरफ चर्चा हो रही थी कि नहीं देंगे इस्तीफा तो निलंबित करेंगे, लेकिन ये सब बेकार की बातें हैं, हमने देखा कि अब कोई रास्ता नहीं है, तो नमस्कार करो, अपने आप को अलग कर लिया, जब तक वैकल्पिक व्यवस्था नहीं होती, तब तक महामहिम ने काम करते रहने को कहा है,आगे क्या होगा, कब होगा, कैसे होगा, यह सब आगे पर ही छोड़ दीजिए, आज का चैप्टर यहीं खत्म


जिस वर्तमान सरकार का मैं नेतृत्व कर रहा था, उसे लगा कि अब आगे काम करना संभव नहीं है,न्याय के लिए, बिहार के विकास के लिए हमारा कमिटमेंट है,लेकिन जब ऐसा नहीं कर सकते तो नेतृत्व करना संभव नहीं है, मैं किसी को ब्लेम नहीं कर रहा हूं,लेकिन जहां तक संभव था, किया है,जिन्होंने सहयोग किया, उन्हें धन्यवाद देता हूं,मेरे लिए संभव नहीं था.




" तेजस्वी यादव, मुझसे कभी इस्तीफा नहीं मांगा गया,  ये बीजेपी और आरएसएस हैं, जो इस महागठबंधन को तोड़ना चाहते हैं, लोग उनकी साजिश के जरिए ये देख सकते है, सुशील मोदी बिहारी भी नहीं हैं, वे एक बाहरी हैं, ये लोग बिहार के विकास और वहां के लोगों को बारे में फिक्र नहीं करते,अमित शाह ने कहा था, कि वो हर राज्य में बीजेपी की सरकार देखना चाहते हैं, इसलिए वो हर तरह से ये कोशिश कर रहे हैं, कि महागठबंधन टूट जाए.


राज्यपाल केएन त्रिपाठी को बुधवार को कोलकाता जाना था। उन्होंने आखिरी वक्त पर अपना प्रोग्राम कैंसिल कर दिया.

लालू प्रसाद यादव को भी रांची जाना था, लेकिन वे भी नहीं गए, उन्होंने पार्टी विधायकों की मीटिंग की.

आरजेडी की तरफ से सख्त बयान आने लगे थे, शिवानंद तिवारी ने तो यह भी कह दिया था कि सीएम दूध के धुले नहीं हैं

# कैसे शुरू हुआ विवाद ?

  • सीबीआई ने 5 जुलाई को लालू, राबड़ी और तेजस्वी यादव के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी, 7 जुलाई को सुबह CBI ने लालू से जुड़े 12 ठिकानों पर छापे मारे थे, जांच एजेंसी के मुताबिक 2006 में जब लालू रेलमंत्री थे, तब रांची और पुरी में होटलों के टेंडर जारी करने में गड़बड़ी की गई.
  • इसके बाद तेजस्वी के इस्तीफे की मांग उठने लगी, मामला तब गरमा गया जब नीतीश कुमार की अगुआई में इस मसले पर 11 जुलाई को जेडीयू की अहम बैठक हुई.
  • इससे पहले मई से ही लालू और उनके परिवार के खिलाफ 1000 करोड़ की बेनामी प्रॉपर्टी के आरोपों की इनकम टैक्स डिपार्टमेंट जांच कर रहा था, मीसा और उनके पति के ठिकानों पर भी छापे मारे जा चुके थे, जेडीयू ने कब रुख सख्त किया.
  • तेजस्वी पर एफआईआर के बाद बैठक के बाद जेडीयू ने कहा था, कि जिन पर आरोप लगे हैं, वे जनता ले सामने फैक्ट्स के साथ जवाब दें, जेडीयू ने कभी करप्शन के मामले में समझौता नहीं किया है, हमने तो इसकी मिसाल पेश की है, फिर चाहे वे जीतनराम मांझी का मामला हो या अनंत सिंह का,नीतीश कुमार अपनी छवि और भ्रष्टाचार की समस्या से समझौता नहीं करेंगे

News : https://goo.gl/mS4a6k

" बिग बॉस, तेलुगु :  की कंटेस्टेंट " मुमैथ खान, काफी चर्चा में हैं, जी हाँ हाल ही में उनका नाम ड्रग्स केस में भी आया है, जिसके चलते उनसे पूछताछ भी जाएगी, मुमैथ के लेकर कम ही लोग जानते हैं, कि वो एक्ट्रेस के साथ आइटम गर्ल भी हैं, और साउथ में काफी फेमस भी.


मुमैथ ने करीब 15 हिंदी, तेलुगु, तमिल और कन्नड़ फिल्मों में काम किया है, यहां तक कि वो बॉलीवुड में सलमान खान के साथ फिल्म " लकी, और संजय दत्त की फिल्म " मुन्नाभाई एमबीबीएस, में भी नजर आ चुकी हैं.




# मुमैथ खान ने बताया था, कि वो चार लोगों के साथ लिवइन रिलेशन में रह चुकी हैं,हालांकि उनका रिश्ता किसी से भी ज्यादा समय तक नहीं चल पाया.

# मुमैथ खान ने कहा था, " मैंने अपने रिलेशन के लिए " 27 लाख रुपए, की सर्जरी भी करवाई थी,इस सर्जरी में मेरे दिमाग में 9 महंगे टाइटेनियम के तार लगाए गए थे.

वैसे सभी के मन में सवाल जरूर पैदा होता है, की भारत के प्रधानमंत्री और राष्ट्पति कैसे रहते है, और क्या खाना खाते है, उन्हें किन - किन चीजों की जरुरत को पूरा किया जाता है, तो चलिए हम आपको ऐसे कुछ रोचक चीस बतायेगे...


भारत के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जिस राष्ट्रपति भवन में रहने जा रहे हैं, वहां का किचन भी " स्टेट ऑफ द आर्ट, सुविधा है, राष्ट्रपति भवन का किचन "एयर कंडीशन्ड,भी लगी हुई रहती है, और यहां खाना पकाने के लिए जरूरी सभी आधुनिक मशीनें भी मौजूद हैं.

राष्ट्रपति भवन के एक खास टीम साफ - सफाई और हाइजीन का ध्यान रखती है,और किचन में एक्जिक्यूटिव शेफ के अलावा दर्जनों शेफ, हलवाई काम करते हैं, राष्ट्रपति और मेहमानों को परोसने से पहले खाने की सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जांच की जाती है, राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति द्वारा आयोजित सभी ऑफिशियल बैन्क्वेट और भोज के लिए इस किचन में खाना बनता है,


# तो, आइए जानते हैं, क्या खासियत है, भारत के राष्ट्रपति भवन के किचन और डायनिंग रूम्स 

 


# राष्ट्रपति भवन के बेसमेंट में मौजूद है,मेन किचन और ऊपर की फ्लोर्स की डायनिंग और बैंकवेट हॉल है. 



# हाउसहोल्ड सेक्शन है, जरूरतों और सुबिधा का ध्यान रखता है.


# राष्ट्रपति भवन के किचन में लगभग 32 लोगो की टीम होती है,जिसमे एक्जिक्यूटिव शेफ के अलावा दर्जनों शेफ, हलवाई काम करते हैं
 

शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं,पीएम मोदी, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया की मौजूदगी में देश के नए राष्ट्रपति अपना कार्यभार संभालेंगे.
 

प्रधानमंत्री, भारत के प्रधान न्यायाधीश, लोकसभा अध्यक्ष, मंत्रिपरिषद के सदस्य, राज्यों के राज्यपाल, मुख्यमंत्री, राजनयिक मिशनों के प्रमुख, संसद सदस्य और भारत सरकार के प्रमुख असैनिक और सैनिक अधिकारी केंद्रीय कक्ष में एकत्र होंगे.


# प्रधानमंत्री को शपथ राष्ट्रपति दिलाते हैं, और मुख्यमंत्री को राज्यपाल,


आप सोच रहे होंगे, राष्ट्रपति का पद, उन्हें शपथ कौन दिलाता है, तो हम आपको बताते हैं कि उन्हें शपथ कौन दिलाता है,चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया " भारत के मुख्य न्यायाधीश, की मौजूदगी में देश के राष्ट्रपति शपथ लेते हैं, अगर किसी कारण से वे उपस्थित नहीं हो पाते हैं, तो " सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया, के सीनियर के सामने राष्ट्रपति शपथ लेते हैं.


# शपथ ग्रहण समारोह में कौन - कौन शामिल होंगे :
  • राज्यसभा के सभापति, 
  • प्रधानमंत्री,
  • सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस,
  • लोकसभा स्पीकर,
  • कैबिनेट मेंबर्स, 
  • राज्यपाल, 
  • मुख्यमंत्री, 
  • विदेशी एम्बेसेडर्स, 
सांसद और भारत सरकार के प्रमुख सिविल और मिलिट्री ऑफिसर मौजूद रहेंगे. 


# कार्यक्रम

सेंट्रल हॉल में कार्यक्रम 12.15 शुरू होगा,कोविंद पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के साथ एक ही कार में संसद जाएंगे और वहां से लोकसभा और राज्यसभा स्पीकर दोनों को लेकर सेंट्रल हॉल जाएंगे.

आर्टिकल 56 के मुताबिक, जिस दिन राष्ट्रपति शपथ लेते हैं, उस दिन से उनका पांच साल का कार्यकाल शुरू हो जाता है, शपथ के दौरान 21 तोपों की सलामी दी जाएगी, नए राष्ट्रपति भाषण देंगे,आखिरी में प्रणब मुखर्जी विदाई लेंगे.

About Author

{twitter#https://twitter.com/paliganjtimes} {google-plus#https://plus.google.com/108023997769411835514/posts} {youtube#http://youtube.com/paliganjtimes}

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.