2017

पालीगंज अनुमंडल क्षेत्र रानीतलाब थाने के पुलिस हिरासत में डम्फर चालक की मौत की खबर पर संज्ञान लेते हुए आईजी नैयर हसनैन खा ने दोषी प्रभारी दरोगा आरडी सिंह समेत पाँच पुलिस कर्मियो पर करवाई करते हुए उन्हें किया निलम्बित किगया गया. 



जानकारी के अनुसार दरोगा की निलम्बन की कल दोपहर से ही आ रही थी, लेकिन जब इसकी पुष्टि के लिए सिटी एसपी से कई बार फोन करने की कोशिश किया गया लेकिन उन्होंने फूल रिंग होने के वावजूद भी फोन नही उठाया और न ही उन्होंने फिर कौल - बैक किया.


देर शाम तक कई प्रयास किए लेकिन कई वरीय पदाधिकारियों ने कोई पुष्टि नही की, लेकिन देर रात आईजी ने कड़ी करवाई करते हुए इस कहानी का पटाक्षेप कर दिया. दूसरी ओर अनुमण्डल पुलिस ने अपनी ओर से दोषी पुलिस कर्मियो को बचने की जीतोड़ कोशिश अन्तः वे देर शाम तक सफल भी हो गए थे.


पीड़ित परिजनों को समझा बुझा कर सारे समीकरण अपने पक्ष में कर लिया था. ढाई लाख नगद उस दरोगा से लेकर दिया गया और 20 हजार बिडिओ द्वारा परिवारिक लाभ योजना की और 3 हजार कबीर अंत्योष्ठि की मुखिया द्वारा दी गई राशि मिलाकर करीब 2.73लाख की सहायता राशि के डम्फर ड्रावर सूरज नट के बेटे को थाने में स्पाई की नौकरी की आश्वासन के बाद इस मामले को एक एसीडेंटल रूप देकर सबकुछ उल्टा पुल्टा करते हुए अपने पक्ष में सीधा करते हुए पुलिस ने दोषियों को बचाने की सफल प्रयास किया था.

बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड BSEB ने आज गुरुवार मैट्रिक 10वीं के रिजल्ट का ऐलान दिया है.बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड  ने 30 मई को 12वीं के रिजल्ट जारी किए थे, जिसमें कुल 35 फीसदी छात्रों को ही सफलता मिली थी, इंटर साइंस के रिजल्ट में सिर्फ 30.11 फीसदी छात्र पास हो पाए थे, आर्ट्स में 37.13 फीसदी और कॉमर्स में 73.76 फीसदी छात्रों को सफलता मिली थी.


बिहार बोर्ड दसवीं की परीक्षाएं 1 मार्च 2017 से शुरू हुई थी,  जो 8 मार्च 2017 तक चलीं, बिहार बोर्ड की 10वीं की परीक्षा का आयोजन बिहार विद्यालय परीक्षा समिति करती है, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा 10वीं बोर्ड की परीक्षा का आयोजन अमूमन हर साल फरवरी/मार्च के महीने में किया जाता है.

बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड अधिकारियों के अनुसार, 17 लाख 23 हजार 941 ने इस बार मैट्रिक की परीक्षाएं दी थी, इसमें से 8 लाख 63 हजार 950 स्टूडेंट्स पास हुए हैं, कुल 50.12 फीसदी छात्र-छात्राएं पास हुए हैं.

मैट्रिक परीक्षा में सिर्फ आधे स्टूडेंट्स ही पास हुए हैं, लखीसराय के प्रेम कुमार ने बिहार में टॉप किया है, प्रेम कुमार ने 465 नंबर लाये हैँ.

प्रेम कुमार को गणित और विज्ञान विषय में उन्हें शत-प्रतिशत यानी 100 में 100 अंक आए हैं, संस्कृत में प्रेम कुमार को 100 में 91 अंक मिले हैं, सोशल साइंस में 89, हिंदी में 85 और अंग्रेजी में प्रेम कुमार 70 अंक हासिल हुए हैं, प्रेम कुमार का रोल कोड 23040 और रोल नंबर 1700117 है.

प्रेम कुमार के बाद दूसरे नंबर पर भव्या कुमारी आई हैं। वे सिमुलतला आवासीय विद्यालय से हैं, उन्हें 464 नंबर मिले हैं। इसके बाद तीसरे नंबर पर 462 अंक के साथ हर्षिता कुमारी हैं। वे भी सिमुलतला आवासीय विद्यालय से हैं। चौथे नंबर पर अनिल कुमार राय हैं। उन्हें 460 अंक मिले हैं।

पांचवें नंबर पर बिशुनपुर के एसजेआर हाईस्कूल के शुभम कुमार पांडे हैं, उन्हें 460 नंबर मिले हैं, सातवें नंबर पर सिमुलतला आवासीय विद्यालय की दीपालोक कौशिक हैं.



आप इस वेबसाइट पर रिजल्ट देख सकते हैंbiharboard.ac.in 




बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड के 10 टॉपर्स :
  1. प्रेम कुमार  - गोविंद हाई स्कूल - 465
  2. भव्या कुमारी, सिमुलतला आवासीय विद्यालय - 464 93%
  3. हर्षिता कुमारी  सिमुलतला आवासीय विद्यालय  462-92.8%
  4. अनिल कुमार राय - कारकुन लाल हाईस्कूल, अल्ताहाट- 460 
  5. शुभम कुमार पांडे - एसजेआर हाईस्कूल, बिशुनपुर- 460
  6. शिवम कुमार - सिमुलतला आवासीय विद्यालय - 460
  7. दीपालोक कौशिक - सिमुलतला आवासीय विद्यालय - 459
  8. मानव गोपाल - सिमुलतला आवासीय विद्यालय- 458
  9. सत्यजीत कुमार- आरपीएस हाईस्कूल, पोखरिया - 458
  10. प्रज्ञा आनंद - सिमुलतला आवासीय विद्यालय- 458

बिहार बोर्ड की परीक्षा में टॉप करने वालों को सरकार की खास सौगात भी देने का ऐलान किया गया है, इसमें बिहार बोर्ड टॉप करने वाले प्रेम कुमार को 100000 रुपये के साथ-साथ लैपटॉप, ई-बुक और सर्टिफिकेट दिए जाएंगे, प्रेम कुमार के अलावा सेकंड टॉपर को 75000 रुपये और थर्ड टॉपर 50000 रुपये कैश दिए जाएंगे, सेंकड और थर्ड टॉपर को भी लैपटॉप, ई-बुक और सर्टिफिकेट भी दिये जाएंगे.

पालीगंज अनुमंडल राणितलाब थाणे की पुलिस की हिरासत में सैरैया गांव निवासी डम्फर चालक 50 वर्षीय सूरज कुमार की पुलिस द्वारा जमकर की पिटाई से देर मौत हो गई, मौत की खबर से सैंकड़ो आक्रोशित परिजनों ने स्टेट हाइवे SH-69 को सुबह से जामकर दरोगा आरडी सिंह की पर करवाई और मुवावजे की माँग करते हुए लगभग चार घण्टे से सड़क जाम कर पुलिस प्रशासन के विरुद्ध जमकर विरोध प्रदर्शन कर रहे है.



जानकारी के अनुसार कल सैदाबाद में डम्फर ड्रावर सूरज कुमार नट की गाड़ी एक ट्रक से टकरा गई थी, उसी आरोप में पुलिस ने ड्रावर सूरज को कल शाम गिरफ्तार किया था, रात में सूरज ने अपने परिजनों से पुलिस की पटाई से पेट में दर्द होने की बात कहि थी, जिसकी देर रात मौत हो गई, पुलिस ड्रावर सूरज के मौत के बाद उसकी लाश को छुपा दिया और परिजनों को किसी बात की जानकारी नही दिया गया.




 पुलिस की लापरवाही से आक्रोशित सैंकड़ो परिजनों ने राणितलाब डुमरिया स्टेट हाइवे को जाम करते हुए दोषी पुलिस कर्मियो पर कड़ी करवाई और पीड़ित परिजनों को मुवावजे मांग करते हुए सड़क पांच घण्टे से जाम किए हुए है.


 मौत से आक्रोशित परिजनों ने शव को सुपर्दगी और उसे पुलिस द्वारा नही दिखाए जाने पर आक्रोशित हो पुलिस पर ही पथराव कर दिया जिसके जबाब में पुलिस ने आक्रोशित लोगो पर लाठी चार्ज कर स्थिति को नियंत्रित किया.


अनुमंडल प्रशासन ने तनाव को देखते हुए अनुमंडल अस्पताल परिसर और बाजारों में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था करते हुए भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात कर दिया कई बार थोड़ी बहुत नोक झोक भी हुई .


इस घटना के सुचना के कई घण्टे के बाद एसडीओ अनिल कुमार राय और एएसपी मिथलेश कुमार ने पीड़ित परिजनों से बात कर ताले में बन्द पोस्टमार्टम घर में जाकर उसे खोल कर शव का निरीक्षण किया.



इसके बाद दोषी पुलिस कर्मी और दरोगा आरडी सिंह पर कड़ी करवाई और उचित मुवावजे के दिलवाने के आश्वासन के बाद शव को पोस्टमार्टम डॉक्टरों की मेडिकल टीम द्वारा मजिस्ट्रेट की देख रेख में करवाया गया.  

SH-69 पालीगंज रानीतलालाब सड़क को सुबह से शाम तक करीब 11 घण्टे 6 बजे शाम तक पॉस्टमॉर्टम होने तक जारी रखा, तो दूसरी ओर परिजनों को पुलिस द्वारा शव कहा है, क्या की सही जानकारी नही देने से मामला और उलझते रहा, दोपहर में पुलिस और आक्रोशित परिजनों के बीच नोकझोक भी कई बार हुई, जिसमें एक पुलिस पर आक्रोशित महिलाए और पुरुषो ने पथराव भी किया. 

जिसके जबाब में पुलिस को हल्की लाठी भांजनी पड़ी वहीँ स्थिति तनावपूर्ण होने और खतरे की आशंका से अनुमण्डल प्रशासन पटना बज्र वहांन के साथ भारी मात्र पुलिस बल की माँगा लिया अनुमण्डल अस्पताल पुलिस छावनी में तब्दील हो गई दिन भर स्थिति तनाव पूर्ण रही.

इस बीच अनुमण्डल प्रशाशन किसी तरह पीड़ित परिजनों को समझौता कर मामले की रफादफा करने प्रयास करती रही अन्तः देर शाम को दोनों पक्षो के बीच एक बिच का रास्ता निकलते हुए मामले को रफादफा करने के लिए राजी हुए.



परिजनों से पूछा गया तो वे लोगो ने कहा की करीब 2.85 पौने तीन लाख नगद रुपए पुलिस द्वारा मिलेगी और मृतक सूरज नट के पुत्र को एक नौकरी पुलिस PSO के रूप होगी. 

एएसपी मिथलेश कुमार से पूछा गया तो उन्होंने बताया की यह एक्सिडेंटल केश हुई थी, जिसमे उसकी मौत हुई पुलिस मामले की जाच में जुटी है.



News : Amlesh

पालीगंज में बुधवार को भारी बारिश हुई, जिससे पालीगंज वासियो को तपती गर्मी से राहत मिली है, और किसान लोगो को भी फयादा हुई.आप फोटो भी देख सकते है.



     

पालीगंज अनुमण्डल मुख्यालय थाने क्षेत्र के कोडरा रानीपुर गाँव में भूमि विवाद में दो पक्षो के बीच हुई मारपीट में एक ने दूसरे पक्ष के दो सगे भाईओ को लाठी डंडो से पिट - पिट कर गम्भीर रूप से जख्मी कर दिया.




दोनों जख्मियों का ईलाज अनुमंडलीय अस्पताल में डॉक्टरों द्वारा किया जा रहा है, पुलिस ने मामले की प्राथमिकी दर्ज करते हुई जाँच में जुटी है.


जानकारी के अनुसार ने पीड़िता प्रमोद कुमार यादव बताया की मैं अपने सगे भाई विनोद कुमार के साथ कोर्ट के आदेश पर अपने जमीन का नापी अमिन से करवा रहे थे, की इसी बिच रामपुकार यादव् ,महेश यादव ,सुरेन्द्र यादव ,पप्पू यादव समेत लगभग एक दर्जन लोगो ने आए और इसकी विरोध करने लगे ।जिसका विरोध करने उनलोगो ने दोनों भाईयो को लाठी डंडो और लोहे की रड से मारपीट कर हमलोगो को गम्भीर रूप से जख्मी कर दिया


News : amlesh sir

आज सुबह पालीगंज में हुई हल्की बारिश से मौसम सुहाना हो गया है, तापमान में 27 डिग्री सेल्सियश है. पालीगंज जनता को एक सप्ताह से भारी भीषण गर्मी से परेशान लोगों को हल्की बारिश से राहत मिली है. बारिश के बाद अपराह्न से आसमान पर बादल छाए रहे,इससे रात में भी तापमान संतुलित रहने का अनुमान लगाया जा रहा है.



पालीगंज में तापमान में आई गिरावट का असर मुख्य बाजारों में भी देखा गया. हल्की बारिश और इस वर्ष अच्छी बारिश की घोषणा से कृषकों में खुशी देखी जा रही है.   

पटना से शेखपुरा जा रही बस में भीषण आग लग जाने से सवार आठ लोग जलकर मर गये, मरने वालों में सात वयस्क और एक बच्चा शामिल है, घटना हरनौत में शाम पौने छह बजे हुई, जिस समय यह घटना हुई उस समय बस हरनौत बाजार से गुजर रही थी.




आग इतनी भयावह थी कि अंदर बैठे यात्री निकल नहीं पाये और जिंदा जल गये, लाशें इस कदर जल गई हैं, कि यह पता करना मुश्किल है, कि ये महिलाओं की हैं, या पुरुषों की लाशों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजा गया है.


जली हुई लाशें आपस में सट गई हैं, लोगों का कहना है, कि मृतकों की संख्या बढ़ भी सकती है, कुछ लोग 15 तो कुछ 20 भी बता रहे थे, इस बीच सीएम नीतीश कुमार ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं, सीएम ने मृतकों के परिवार को चार-चार लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है.

आधा घंटे के बाद पुलिस पहुंची। इससे आक्रोशित लोगों ने पुलिस पर हमला बोल दिया और कई पुलिसकर्मियों को पीटा पटना से शेखपुरा जा रही बाबा रथ नामक बस पौने छह बजे शाम में हरनौत बाजार पहुंची, वहां बस का ठहराव नहीं था, बाजार में भीड़ अधिक होने के कारण बस धीरे-धीरे चल रही थी, जैसे ही बस थाना मोड़ के विश्वकर्मा मोड़ के पास पहुंची अचानक बस की इंजन से आग की लपटें निकलने लगीं.


जैसे ही बस के ड्राइवर की नजर उसपर पड़ी उसने बस रोक दी, इसके बाद वह खलासी के साथ बस से कूद कर भाग गया, हालांकि भागते हुए उसने बस में बैठे यात्रियों से भी जल्दी निकल जाने के लिए कहा, इधर देखते-देखते आग की लपटें भयावह तरीके से उठने लगीं और उसने पूरी बस को अपनी चपेट में ले लिया, पूरी बस आग के गोले में बदल गई, जो लोग बस के दरवाजे के पास थे वे लोग तो उतर गये लेकिन बीच में और पीछे बैठे लोग आग की चपेट में आ गये, बस से उतरकर भागने के क्रम में अठारह लोग झुलस गये हैं.  

पालीगंज : के अनुमंडलीय अस्पताल में पोषाहार के प्रभारी ठेकेदार के मनमानी रवैये के कारण पालीगंज अस्प्ताल में मरीजो को पोषाहार नही मिल पा रहा है, जिसके कारण मरीजो में कमजोरी और तरह - तरह की प्रसूति सम्बंधित बीमारी उत्प्पन हो रहा है.


जो मेन्यू अस्पताल प्रशाशन ने लगा रखा है, उसके अनुसार कुछ भी मरीजो को मुहैया नही कराया जाता है, जब पालीगंज टाइम्स की टीम अस्पताल में पहुची तो आनन-फानन में मरीजो को नास्ते के नाम पर महज कुछ ब्रेड और केले दिए गए है.



मरीजो के पोशाहार के नाम पर सरकार काफी रकम ठेकेदारों को अदा करती है, जब मन हुआ तब भोजन दिया नही तो मरीजो को फिर मजबूरन बाहर से जरूरी पोशाहार मंगाना पड़ता है, इसके लिये अस्पताल प्रभारी को भी कड़ा कदम उठाने की सख्त जरूरत है,ताकि मरीजो को उसका वाजिब पोशाहार मिल सके.




News reporter : Sunny kumar roy


पालीगंज : दहेज में मोटरसायकिल की मांग पूरी न होने पर ससुरालियों ने एक विवाहिता का उत्पीड़न शुरू कर दिया.फिर उसके बच्चे के साथ घर से निकाल दिया.




आपको ऐसा लग रहा होगा जैसे फिल्म की कहानी है, लेकिन ये कोई फ़िल्मी की कहानी नही हकीकत है पालीगंज दुल्हिन बाजार थाने के बड़की खंडवा गांव निवासी वैजयंती देवी की आपबीती कहानी है,वैजयंती ने पति और सास ससुर के द्वारा घर से निकाले जाने के बाद स्थानीय थाने में तहरीर सौंपकर ससुरालियों के खिलाफ कार्रवाई की गुहार लगाई है, पुलिस मामले की जांच कर रही 

वैजयंती अपनी लिखित फरियाद में विस्तार से आपबीती बताती हुई,कहती की...


हमारी शादी 6 साल पूर्व 2011 में मेरे पिताजी ने अपनी शक्ति अनुरूप दहेज देकर धूम-धाम से बड़की खंडवा गांव निवासी रघुनाथ कुशवाहा के लड़के राजकुमार कुशवाहा के साथ की शादी, शादी के बाद कुछ वर्ष तक हमारी घर परिवार काफी खुशहाल से चल रही थी, इसी बीच में एक बच्चे भी हुई.

घर में नन्हे मेहमान के आने से सभी खुस रहने लगे,और इसी बीच ससुराल वाले के नियत और मन मिजाज अचानक बदलने लगी पति और सास ससुर ने दहेज में मोटरसायकिल और सोने की चैन माँगने लगे और मुझे और मेरे मैके वालो को परेशान करने और इसबीच मेरे साथ गली गौलज मारपीट करने लगे.

कई बार ससुरा वालो उसे जान से मारने की प्रयास भी किया, और उसे घर से निकाल दिया गया, ससुराल वालों ने मुझे दहेज मैके से नहीँ लाने पर यह कहते हुए घर से निकाल दिया की दूसरी शादी कर लेंगे अपने बच्चों के साथ मुझे घर से निकाल दिया.

जानकारी के अनुसार राजकुमार कुशवाहा की शादी होने वाली है, जोकि पहले से ही निर्धारित थी इसी बात को लेकर विवाहिता को घर से निकाल दिया, अपनी फरियाद पुलिस से वैजयंती देवी ने तत्काल शादी को रोक लगाने की गुहार लगाते हुए थानेदार से न्याय की गुहार लगाई है. 



पुलिस भी इस बात से इतेफाक रखती है, कि इस विवाहिता को ज्यादती और जुल्म की शिकार हुई है,परंतु क्या पुलिस इस होने वाली आज शादी रुकवा पाएगी.

पालीगंज के मसौढ़ी जलपुरा ग्राम पंचायत के पूर्व मुखिया संजीव सिंह पर लाखो रूपये गवन करने का मामला थाने में दर्ज किया गया है. आपको हैरानी होगी पंचायत के लगातार तीन बार रहे पूर्व मुखिया संजीव सिह और पूर्व पंचायत सचिव हरिहर सिह पर हाईकोर्ट के दिशानिर्देश पर स्थानीय थाने में हुई मामला दर्ज हुई. 



मसौढा गांव निवासी नन्दकिशोर शर्मा ने पूर्व मुखिया संजीव सिह और पंचायत सचिव पर हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर करते हुए वित्तवर्ष 2006-11 तक में मनरेगा की 26 योजनाओं में लाखों की गमन करने आरोप लगाते हुए (कांड संख्या 18134 /14 )में केश दर्ज किया था.

जिसके सुनवाई करते हुए तत्कालीन चीफ जस्टिस ने आरोप को प्रथम दृष्टया सही मानते हुए जिलाधिकारी को एक जाँच टीम गठित करते हुए कहा की जाँच करवा कर जल्द जाँच रिपोर्ट सौंपने को आदेश दिया था. तत्कालीन जिलाधिकारी ने एसडीओं के नेतृत्व में एक तीन सदस्यीय जाँच टीम गठित किया था.

एसडीओं की टीम ने जाँच के बाद कुल 9 योजनाओं में करीब 29 लाख 70 हजार 9 सौ रुपए की राशि को फर्जी कर गलत तरीकों से गमन करने की आरोप सही पाए थे. जिसमें पूर्व मुखिया और पंचायत सचिव के साथ कुल 11 लोगो को इसमें संलिप्त पाते हुए दोषी मानते हुए अपनी जांच रिपोर्ट को जिलाधिकारी के माध्यम से कोर्ट को सौप दिया था.

माननीय उच्च न्यायलय ने सभी दोषी 11 लोगो के विरुद्ध सरकार को प्रथमिकी दर्ज करने की आदेश दिया था लेकिन विभाग ने मनरेग के दोषी 9 पदाधिकारियो को बचाते हुए, सिर्फ पूर्व मुखिया और पंचायत सचिव को ही दोषी मानते हुए इस मामले की उल्झन करते हुए दोषी मानते प्रथमिकी दर्ज करने की आदेश जारी किया.

विभाग ने दोनों के विरुद्ध प्रथमिकी दर्ज करने की आदेश जारी किया था, लेकिन पदाधिकारियो की रवैए से यह मामला काफी दिनों से उलझा हुआ था, पालीगंज थाने में मनरेगा के प्रोग्राम पदाधिकारी ने प्रथमिकी दर्ज किया गया. जिसकी आधिकारिक पुष्टि इंस्पेक्टर सह स्थानीय थानेदार सुबोध कुमार सिंह ने किया है. और पुलिस इसपर छान बीन कर रही है. 

बिहार : आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव और जेल में बंद उनकी ही पार्टी के नेता शहाबुद्दीन की बातचीत का एक कॉल रिकॉर्ड लीक हुई. कॉल रिकॉर्ड में शहाबुद्दीन ने लालू से सीवान के एसपी को हटाने की मांग करता है,कॉल रिकॉर्ड सामने आने के बाद बीजेपी ने नीतीश कुमार से इस्तीफा मांगा है, बीजेपी नेताओं ने शनिवार शाम इस मामले की शिकायत गवर्नर से भी की, हैरानी की बात ये है,आखिर  किसने जारी किया कॉल रिकॉर्ड...


शनिवार को लालू और शहाबुद्दीन के बीच बातचीत का कॉल रिकॉर्ड लीक किया 

कॉल रिकॉर्ड लीक होने के के बाद बिहार बीजेपी नेता सुशील मोदी ने नीतीश से इस्तीफे की मांग की, सुशील मोदी ने कहा कॉल रिकॉर्ड से साबित हो जाता है, ये खेल काफी पहले से जारी है, सुशील मोदी ने कहा नीतीश हिम्मत दिखाएं और ये गठबंधन तोड़ दें, बीजेपी नेताओं ने इस बारे गवर्नर से भी शिकायत की है.




तो आइये हम आपको बतायेगे शहाबुद्दीन और लालू की बातचीत में क्या ?

शहाबुद्दीन : क्या हाल है उपेंद्र ?
उपेंद्र : ठीक है भइया।
शहाबुद्दीन : कहां हैं लालू जी?
उपेंद्र: बैठे हुए हैं.
शहाबुद्दीन : फ्री हैं तो दो न उनको
उपेंद्र : अच्छा देते हैं.

18 सेकंड बाद लालू फोन पर जवाब देते हैं.

लालू : हैलो
शहाबुद्दीन : जी प्रणाम
लालू : बोलो
शहाबुद्दीन : जरा, सीवान का भी खबर ले लीजिए.
लालू : सीवान के मीरागंज का तो सुना है.
शहाबुद्दीन : सीवान में ज्यादा है। उस दिन भी छाता वाला हम बताए हैं, आज नवमी था, पुलिस का डेपुटेशन करना चाहिए था.
लालू : नहीं किया था ?
शहाबुद्दीन : नहीं, नहीं, कुछ नहीं। खतम है भाई एसपी आपका,हटाइये न ये सबको
लालू :आज कुछ हुआ है.
शहाबुद्दीन : हमको लगता है पुलिस के तरफ से गोली भी चली है।
लालू : फायरिंग किया है, कहां पर ?
शहाबुद्दीन : नवलपुर में तो ईट पत्थर चला था, लेकिन विधायक जी भी किसी से बात कर रहे थे, तो इनको बताए लोग कि वहां कोई गोली चली है, पुलिस फायरिंग में
लालू : कहां पर ?
शहाबुद्दीन : पता कर लीजिए
लालू : लगाओ तो एसपी को

पालीगंज में पहली बार लड़कीयों के लिए " Sujan International Girl's School " विद्यालय खुल गई है, पालीगंज अनुमंडल के समीप लड़कीयों को ध्यान में रखते हुए, एक नई विद्यालय मात्र दो तीन माह पहले शुरुआत की गई थी. 


लड़कियों के लिए प्ले रूम, सभी महिला शिक्षिका, सभी क्लासरूम में सीसीटीवी कैमरा, जेनेरेटर की सुविधा, सुसज्जित पुस्तकालय व कंप्यूटर क्लास रूम व पीने के लिए जल के लिए फिल्टर की व्यवस्था. और दूर दराज से आने वाले लड़कियों के लिए वाहन की व्यवस्था भी है. 


इस विद्यालय की खास बात यह हैं, कि यहाँ लड़कियों के पढ़ने के लिए दी जाने वाली किताब आधे दाम पर एवं अन्य पोशाक व पढ़ाई संबंधित वस्तु बहुत कम पैसे पर दी जा रही हैं.

दो से तीन माह के अंदर शुरू हुई विद्यालय में करीब 200 लड़कियाँ नामांकन ले चुकी हैं, जो कि विद्यालय के गुणवत्ता को बल देता हैं.

अगर आप भी एडमिशन करना चाहते है, आप इस नंबर पे कांटेक्ट कर सकते है.

Sujan international girl's school 
Contact : 06135-277050,7033694682

Chaliye aaj hum aapko PAN Card ko AADHAAR Card Se Kaise Link kare. aaj hum aapko saral tarike se batayege.


PAN Card - AADHAAR Card Se Link nahi hai to sabse pehale aap Setp by Setp ko padhe.

Step 1 :  incometaxindiaefiling.gov.in | is Link par Click kare. ab aapka Sites open ho jayega for Example me niche dhikhaya gaya hai.





Step 2 : aapka sites open hogaye hai. jo maine aapko uper me Example ke taur pe dikhaya gaya hai. ab aap Websites ke Left me dyan se dekhe " Link Aadhaar "  ka option dhikhega.



Step 3 : ab aap " Link Aadhaar " Option par Click kare. thori der me ek page khulega. jisme aapko PAN Number,Aadhaar Number or Aadhaar Name hai, aap sabhi Box ko Fill kare, Example ke taur pe niche dhikaya gaya hai.


Step 5: apne Box ko fill kar diya hai.ab aapko green color ki Button Dikhega jo Box ke niche me dikhega " Link Aadhaar " Example ke taur pe niche dhikaya gaya hai.

 
aapne Sabhi Box Fill kar diya hai, ab aap Button par click kare.kuch der baad apko ek Message aayega jo is trah hai " Aadhaar-PAN Linking is completed successfully " Example ke taur pe niche dhikaya gaya hai.




सावधान : agar apke PAN Card me Name/sex/DOD/ ki jankari Aadhaar Card me di gaye hai, agar match nahi hue to PAN - Aadhaar se Link nahi hoga.

दिल्ली :  तुगलकाबाद कंटेनर डिपो में एक कंटेनर में गैस लीक से हड़कंप मच गया है, आपको जानकर हैरानी होगी, गैस लीक के चलते डिपो के पास नजदीक में रानी झांसी सर्वोदय विद्यालय के बीमार 250 छात्राएं को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.


फायर ब्रिगेड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है, कि सुबह करीब 7 : 35 मिनट पर गैस लीक से खबर मिली थी, इस मामले में दिल्ली पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है.

दिल्ली के उपमुख्‍यमंत्री मनीष सीसोदिया ने कहा कि गैस लीक होने की वजह से 110 छात्राओं ने आंखों में जलन की शिकायत की थी, उन्हें पास के तीन बड़े अस्पतालों में भर्ती भी करा दिया गया है, मेरी छात्राओं और डॉक्टर्स से बात हुई है, सबकी हालात सामान्य है, कंटेनर डिपो से गैस लीक होने के मामले की जांच के लिए डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट को कहा है,केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने आज केंद्र सरकार द्वारा चलाए जा रहे सरकारी अस्पतालों को गैस लीक पीड़ितों की मदद करने को तैयार रहने का निर्देश दिया है.

तुगलकाबाद के जिस कंटेनर डिपो में गैस लीक हुआ है,उसका शहर से बाहर करने की लम्बे समय से मांग की जा रही है, डिपो के आसपास रानी झांसी स्कूल के अलावा 6 प्राथमिक विद्यालय है,डिपो के अंदर वीपी कैम्प में 15 हज़ार लोग रहते है.

पालीगंज भरतपुरा में वंशीधारी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय (10+2) में एक माह से  शिक्षक और छात्र - छात्राएं पढ़ाने नही आ रहे है, इस विद्यालय में करीब 20 शिक्षक और शिक्षिका है, लेकिन हम आपको बता दे की इस विद्यालय में कोई भी नहीँ आता है, विद्यालय प्रतिदिन खुलती है, जिसमे दो चपरासी के सिवाय कोई नहीँ रहता इस विद्यालय में.


जानकारी के अनुसार कुछ शिक्षक परीक्षा की कापी जाचं करने के लिए गए हुए है, बाकी के शिक्षक स्वतः अपनी मनमानी ढंग से गायब रहते है, जिनका कोई देखभाल करने के लिए कोई नही है, हैरानी की बात ये है, की विद्यालय में बेंच कुर्सी प्रतिदिन खाली पड़ी रहती है.



जबकि छात्र -छात्राएं भी अब विद्यालय आना बंद कर दिए है, क्योंकि वे लोग जब स्कुल आते है, तो शिक्षक ही गायब रहते है, यह स्थिति देख कर छात्र -छात्राएं भी विद्यालय न आकर छूटी मना रहे है.

पालीगंज सिकरिया गावँ के ड़ीबरा के रंजीत साव के खलिहान में बीती रात को कुछ असमाजिक तत्वों ने आग लगा दिया, जिससे रणजीत साव जी का करीब 60 मन गेंहू जलकर राख हो गया,अभी तक किसी भी तरह की प्रशासनिक अधिकारी ने सुध नही लिया है,



पालीगंज ब्लॉक कैंपस में दो-दो अग्निशमन वाहन है, लेकिन बहुत ही कम जगहों पर यह समय से पहुच पाता है,अब इसे प्रशासनिक लापरवाही कहे हैअग्निशमन विभाग की मनमानी



ये कोई पहली घटना नही है, सब होने के बावजूद भी प्रशासन चुप्पी साधी हुई है, इस घटना के बाद कोई भी सरकारी अधिकारी सुध लेने भी नही पहुचे.

आप वीडियो भी देख सकते है, 



पालीगंज में कोई बड़ी आगलगी की घटना हो जाने पर प्रशासन पूरी तरह विफल हो गई है,अनुमंडल प्रशासन भी कोई ठोस कदम नही उठा रहा, अगलगी की घटना पर काबू पाने के लिये प्रशासन को कुछ महत्वपूर्ण कदम उठाना होगा, तभी घटनाओं पर काबू पाया जा सकता है.

भारत की राजधानी दिल्ली में 16 दिसम्बर 2012 को बलात्कार तथा हत्या की घटना हुई थी, गैंगरेप मामले में सुप्रीम कोर्ट ने चारों आरोपियो को मिली फांसी की सजा को बरकरार रखा है,गैंगरेप मामले में सुप्रीम कोर्ट ने चारों आरोपियो को मिली फांसी की सजा को बरकरार रखा है. 


कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है, कि इस बर्बरता के लिए माफी नहीं दी जा सकती है, जस्टिस दीपक मिश्रा ने फैसला सुनाते हुए कहा कि मेरा और जस्टिस अशोक भूषण का इस मामले में एक मत है,लेकिन जस्टिस भानुमति का अलग मत है.

दिल्ली हाईकोर्ट द्वारा फांसी की सजा पाए दोषियों की अपील पर सुप्रीम कोर्ट ने 27 मार्च को सुनवाई पूरी कर फैसला सुरक्षित कर लिया था, जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस आर भानुमति और जस्टिस अशोक भूषण की बेंच ने फैसला सुनाया है.

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में मरने से पहले निर्भया ने पुलिस को जो बयान दिया और उसके दोस्त के बयान को दोषियों के खिलाफ पुख्ता सबूत माना, कोर्ट ने कहा कि पीड़िता के दोस्त के बयान को दरकिनार नहीं किया जा सकता है.

गैंगरेप के चार दोषियों मुकेश, अक्षय, पवन और विनय को साकेत की फास्ट ट्रैक कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई थी, जिस पर 14 मार्च 2014 को दिल्ली हाईकोर्ट ने भी मुहर लगा दी थी, दोषियों की अपील पर सुप्रीम कोर्ट ने फांसी की सजा पर रोक लगा दी थी, इसके बाद तीन जजों की बेंच को मामले को भेजा गया और कोर्ट ने केस में मदद के लिए दो एमिक्‍स क्यूरी नियुक्त किए गए.

सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट की तरह की,हर सोमवार, शुक्रवार और शनिवार को भी मामले की सुनवाई की गई, करीब एक साल तक चली इस सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने 27 मार्च को अपना आदेश सुरक्षित रख लिया था, देशभर को दहला देने वाली इस वारदात के बाद मुख्य आरोपी ड्राइवर राम सिंह ने तिहाड़ जेल में कथित खुदकुशी कर ली थी, जबकि नाबालिग अपनी तीन साल की सुधारगृह की सजा पूरी कर चुका है.

दिल्ली के वसंत विहार इलाके में चलती बस में छह लोगों ने पैरामेडिकल छात्रा से गैंगरेप किया, घटना के बाद युवती और उसके दोस्त को चलती बस से बाहर फेंक दिया गया, 

  • 18 दिसंबर 2012 राम सिंह, मुकेश, विनय शर्मा और पवन गुप्ता को इस मामले में अरेस्ट किया गया.
  • 21 दिसंबर 2012 को मामले में एक नाबालिग को दिल्ली से और छठे अभियुक्त अक्षय ठाकुर को बिहार से पकड़ा गया.
  • 29 दिसंबर 2012 : 13 दिन संघर्ष करने के बाद पीड़िता ने सिंगापुर के एक अस्पताल में दम तोड़ दिया.
  • जनवरी 2013 पुलिस ने पांच बालिग अभियुक्तों के खिलाफ हत्या, गैंगरेप, हत्या की कोशिश, अपहरण, डकैती आदि आरोपों के तहत चार्जशीट दाखिल की,फ़ास्ट ट्रैक अदालत ने पांचों अभियुक्तों पर आरोप तय किए.
  • 11 मार्च 2013 राम सिंह ने तिहाड़ जेल में आत्महत्या की,कहा गया कि आत्मग्लानि के चलते उसने ऐसा कदम उठाया.
  • 31 अक्टूबर 2013 जुवेनाइल बोर्ड ने नाबालिग को गैंगरेप और हत्या का दोषी माना और उसे बाल सुधार गृह में तीन साल गुजारने का फैसला सुनाया.

About Author

{twitter#https://twitter.com/paliganjtimes} {google-plus#https://plus.google.com/108023997769411835514/posts} {youtube#http://youtube.com/paliganjtimes}

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.