Latest Post

उत्तर कोरिया और अमेरिका का तनाव बढ़ गया है, अब कभी भी महा युद्ध हो सकती है, जो दुनिया को कभी भी तीसरे वर्ल्ड वॉर में झोंक सकते हैं, एक-दूसरे को धमकियां देने का दौर अब घातक वेपंस की प्रदर्शनी में तब्दील हो चुका है, जो कभी भी हो सकने वाली बर्बादी का इशारा करते हैं, इसी सिलसिले में आज हम आपको उन देशों के बारे में बता रहे हैं, जो अपने साथ-साथ पूरी दुनिया के लिए खतरा बने हुए हैं.


डॉनल्ड ट्रंप ने चेतावनी देते हुए कहा है कि इस तरह कार्रवाई करेगा कि दुनिया ने ऐसा पहले कभी देखा नहीं होगा, तेवर को बरकरार रखते हुए कहा है, इतना ही नहीं, नॉर्थ कोरिया ने तो गुआम पर हमला करने की भी धमकी दे दी.



जापान ने तो उत्तर कोरिया की ओर से परमाणु हमले की आशंकाओं को ध्यान में रखते हुए अपने यहां लोगों को ऐसी स्थिति के मद्देनजर खास प्रशिक्षण देना भी शुरू कर दिया है, देश यही सोच रहे हैं, कि क्या दुनिया तीसरे विश्व युद्ध की कगार पर पहुंच चुकी है.

सरिसर्च के मुताबिक जो वजन के मामले में फिट होते हैं, लेकिन निंतब, जांघ और पांव में फैट ज़्यादा होता है, उनमें स्ट्रोक, डायबिटीज और हार्ट अटैक की आशंका कम होती है.

सेल रिसर्च जर्नल में यह स्टडी छपी है, इस शोध के अनुसार जिन लोगों के निचले हिस्से में फैट कम होता है, उनमें हृदय रोग और मौत की आशंका ज़्यादा होती है.

हालांकि, यह शोध भारी-भकरम लोगों पर लागू नहीं होता है, इसका कारण यह है, कि भारी-भरकम लोगों के फेफड़े और हृदय के आसपास चर्बी ज़्यादा होती है और इनमें हार्ट अटैक की आशंका पहले से ही ज़्यादा होती है.



डायबिटीज विशेषज्ञ डॉ नोर्बर्ट स्टीफन ने इस शोध के समर्थन में कहा कि स्वस्थ वजन वाले वे लोग ज़्यादा दुरुस्त होते हैं, जिनके शरीर का आकार सेब की तुलना में नाशपाती की तरह होता है.

नितंब और जांघ चर्बी को खपाने के लिए सुरक्षित जगह हैं, उन्होंने कहा कि पेट की चर्बी की तुलना में जांघ और नितंब की चर्बी ठीक होती है.

इस शोध के मुताबिक पेट की चर्बी ख़ून में फैटी एसिड ज़्यादा छोड़ती है, इसके कारण डायबिटीज, इन्सुलिन प्रतिरोधक और कोलेस्ट्रोल का ख़तरा बढ़ता है. 

About Author

{twitter#https://twitter.com/paliganjtimes} {google-plus#https://plus.google.com/108023997769411835514/posts} {youtube#http://youtube.com/paliganjtimes}

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.