Paliganj Times

.
Latest Post

पालीगंज : हाईस्कूल, खेल मैदान के सामने नई बन रही बालिका प्रोजेक्ट 10+2 उच्च विद्यालय की निर्माण कार्य अब आखरी दौर में पहुँच चुका है , लगभग 1 करोड़ 10 लाख की लागत से यह भवन बिहार राज्य शैक्षणिक आधारभूत संरचना विकास निगम देख-रेख में ठेकेदार सुबोध कुमार द्वारा बनाई जा रही है,




निरीक्षण करने पर उपयोग किए जा रही सामग्री की गुणवक्ता ठीक-ठाक दिखाई दिया, 6-2 में बालू -सीमेंट मिलावट के साथ दिवाल प्लास्टर हो रही थी, प्लास्टर पहली नजर में अच्छी दिखी।




वैसे तो इसकी ऊपरी तल की छत की ढलाई कार्य प्रगति पर है, साथ ही इसकी दीवार की प्लास्टर का कार्य भी चल रहे है. निर्माण कार्य संतोष प्रद और ठीक - ठाक दिख रही है, इसकी निर्माण कार्य अगले छह माह के अंदर पूरे करने है.




News : Amles Sir

लंकादहन समारोह में पालीगंज चन्ढोस दुर्गा पूजा द्वारा हर साल बड़े ही सुंदर और मनमोहक नाट्य मंच कलाकारों द्वारा पिछले 1998 से ही लगभग 18 वर्षों से निरंतर किया जा रहा है, जिसमें सुन्दर कांड की प्रस्तुति किया गया, राम का वन गमन ,मृग वध ,सीता हरण ,जटायु वध ,लंका दहन हनुमान का ,और अंत में राम द्वारा रावण और लक्षणम द्वारा मेघनाथ वध किया गया. 







पालीगंज :  दुर्गापूजा के दौरान माहौल एकदम भक्त‍िमय हो उठता है, इस पूजा के आयोजन में हर किसी की यह भी इच्छा होती है, कि उसे भव्य पंडालों और उसकी मनमोहक झांकी को भी निहारने का मौका मिले.

भव्य पूजा पंडाल की एक झलक 

पालीगंज में जगह-जगह पूजा पंडालों में माता रानी के दर्शन पूजन के लिए सैलाब उमड़ रहा है, विभिन्न जगहों पर पंडालों में दर्शन पूजन करके प्रसाद ग्रहण कर रहे थे, और साथ ही माता से अपनी मनोकामना के लिए घर में शांति समृद्धि और सुख की प्राप्ति के लिए प्रार्थना भी कर रहे थे.






पालीगंज में मुख्य रूप से  शिव मंदिर  और , देवी स्थान , पुरानी बाजार , डी पाली , पुरानी सरैया, सहित दर्जनों स्थानों पर पूजा में लोगों की भीड़ ज्यादा उमड़

मुंबई : के परेल एलफिस्टन रेलवे ब्रिज पर भगदड़ मच गई, जिसमें 22 लोगों की मौत हो गई है, वहीं 30 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं, जिसमें से कुछ लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है, बताया जा रहा है, कि पुल गिरने की अफवाह के बाद से मची भगदड़ के चलते यह हादसा हुआ है, राहत बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंच चुकी है, रेलवे के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने कहा कि इस मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं.


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस हादसे पर शोक व्यक्त किया है, पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि हालात पर लगातार नजर बनाए हुए हैं, पीयूष गोयल भी मुंबई में ही है,और स्थिती पर नजर बनाए हुए हैं, रेल मंत्री पीयूष घोयल ने भी हादसे के जांच के आदेश दे दिए हैं, महाराष्ट्र सीएम देवेंद्र फड़नवीस ने मृतकों के परिजानों को 5 लाख रुपए देने का ऐलान किया है, वहीं घायलों में हर तरह ही मेडिकल सुविधा दी जाएगी.


वेस्टर्न रेलवे रवींद्र भाकड़ ने बताया कि बारिश की वजह से फिसलन हो रही थी, जैसे ही ट्रेन आई तो आगे वाले लोग फिसले, जिसके बाद पीछे वाले भी गिरते चले गए, वैसे तो सुबह-सुबह ही भारी भीड़ ट्रेनों के जरिए निकल जाती है, लेकिन नवमी और भारी बारिश की वजह से लोग आज यहां इकट्ठे हो गए थे.

एक चश्मदीदों ने बताया कि, " अचानक चारों और से आवाज आने लगी कि भागो ब्रिज टूट गया है, जिसके बाद लोग भागने लगे, इस भगदड़ में कई लोग नीचे गिर गए, कुछ लोग उनके ऊपर चढ़ गए, ज्यादा लोगों की मौत दबने से हुई है.

मुंबई : " यमला पगला दीवाना, फ्रेंचाइजी की तीसरी फिल्म " यमला पगला दीवाना फिर से, पूरी तरह से देसी फिल्म होगी, यानि की पिछली कड़ी की तरह इसे विदेशों में शूट नहीं किया जाएगा, बल्कि हैदराबाद की रामोजी फिल्मसिटी समेत देशी लोकेशंस पर ही फिल्माया जाएगा, 



एक खास मुलाकात में सनी देओल ने ये जानकारी दी, बातचीत में सनी ने बताया कि " यमला पगला दीवाना दोबारा, में उनसे कुछ चूक हो गई थी, जिसकी वजह से दर्शकों ने उसे नकार दिया. 

हम तीनों " सनी, बॉबी और धर्मेंद्र, ने तय किया है, कि तीसरे पार्ट में हम किसी विदेशी लोकेशंस पर नहीं जाएंगे इस बार कहानी को पूरी तरह देसी रखा गया है, हमने हैदराबाद की रामोजी राव फिल्मसिटी में पहला शेड्यूल पूरा कर लिया है, इसमें मैं, बॉबी और पापा (धर्मेंद्र) शामिल थे, इस बार बॉबी के अपोजिट काजल अग्रवाल हैं, मुझे लगता है, कि  " यमला पगला दीवाना, के दूसरे पार्ट में हमसे थोड़ी गलती हो गई थी, शायद इसीलिए दर्शकों ने इसे बहुत ज्यादा पसंद नहीं किया.


दुनिया की सबसे खूंखार आतंकी " ओसामा बीन लादेन, की मौत ने लोगों को चैन की सांस लेने का मौका दिया था, वो दिन 2 मई, 2011 को एबटाबाद, पाकिस्तान में लादेन को पकड़ने के लिए हुए रेड में 41 साल के " रोबर्ट ओ नील, भी सील टीम 6 के मेम्बर थे, इन्ही की गोली से लादेन की मौत हुई थी, नील ने पिछले महीने ही दूसरी शादी की है, 27 साल की जेसिका को शुरुआत में पता भी नहीं था, कि जिन्हें वो डेट कर रही हैं, उसने लादेन जैसे आतंकवादी को शूट किया था,दोनों की शादी की तस्वीरें DailyMail ने एक्सक्लूसिवली जारी की है.





नील अपनी शादी में बिना वेडिंग रिंग के पहुंचे थे, उनकी शादी पुलिस की टाइट सिक्युरिटी में हुई, इसमें कई नामी-गिरामी हस्तियों ने भी शिरकत की थी, ये कपल अब मोंटाना में शिफ्ट हो गया है, कपल की हनीमून फोटोज भी जारी की गई है, जिसमें दोनों बोरा बोरा आइलैंड पर रोमांस करते नजर आ रहे हैं.




नील ने 2012 में मिलिट्री छोड़ दी थी, अपने करियर में उन्होंने कई देशों में टूर किया, जिसमें इराक और अफगानिस्तान समेत चार अलग-अलग वॉर जोंस शामिल हैं, शादी से पहले नील जेसिका से एक बार में मिले थे, जहां दोनों को पहली नजर में प्यार हो गया, 11 महीने एक-दूसरे को डेट करने के बाद नील ने जेसिका को शादी के लिए प्रपोज किया था, जेसिका ने बताया कि दोनों की बातचीत में लादेन का जिक्र कहीं नहीं होता, उनकी पर्सनल लाइफ काफी अलग है.





लादेन को मारने के बाद नील नहीं चाहते थे, कि उनका नाम पब्लिक किया जाए, लेकिन ऑपरेशन से लौटते के बाद वर्ल्ड ट्रेड सेंटर में अपनों को गंवा चुके एक परिवार से मिलने के बाद नील ने अपना नाम पब्लिक कर दिया, ऑपरेशन के तीन साल बाद नील ने सबके सामने आने का फैसला किया.

जिंदगी में टॉयलेट बहुत इम्पोर्टेन्ट होता है, क्योंकि इसके बगैर किसी का काम नहीं चल सकता, लेकिन इस बात पर कभी चर्चा नहीं होती क्योंकि ये बहुत प्राइवेट जगह होती है, लोग ज्यादा से ज्यादा इसकी साफ सफाई के बारे में ही बात करते हैं, लेकिन हम लाए हैं कुछ ऐसी टॉयलेट्स जो कि चर्चा के लायक हैं, आखिर है क्या इनमें ऐसा.


जहां आपने अभी तक ऑर्डनरी इंडियन या वेस्टर्न टॉयलेट्स ही देखे होंगे, वहीं ये टॉयलेट्स आर्किटेक्ट्स ने अपनी क्रिएटिविटी का पूरा इस्तेमाल करते हुए बनाए हैं, और इन टॉयलेट का इस्तेमाल करना एक अलग ही एक्सपीरियंस होता है, इन में से कुछ आपको डरा सकते हैं, तो कुछ का यूज करते हुए आपको शर्म भी आ सकती है.


तो चलिए रूबरू कराते हैं, 




बिगुल के आकर का बना टॉयलेट।

ऐसे टॉयलेट को देख कर कोई भी डर सकता है

इस टॉयलेट में जाकर ऐसा महसूस होता है कि जैसे कोई आपको देख रहा हो

यहां टॉयलेट करते वक्त गेम्स भी खेले जा सकते हैं

यहां बैठकर ऐसा लगता है मानो नीचे कुछ न हो


बर्फ के बीच बना टॉयलेट

फूलों के आकार के टॉयलेट

यहां अंदर से बाहर सब कुछ दिखता है लेकिन बाहर से भीतर का कुछ नहीं दिखता

About Author

{twitter#https://twitter.com/paliganjtimes} {google-plus#https://plus.google.com/108023997769411835514/posts} {youtube#http://youtube.com/paliganjtimes}

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.